© Getty Images
© Getty Images

क्रिकेट के मैदान पर 24 सालों तक राज करने वाले सचिन तेंदुलकर के बेटे अर्जुन तेंदुलकर भी अब क्रिकेट जगत में सुर्खियां बटोरने लगे हैं। बाएं हाथ के ऑलराउंडर अर्जुन तेंदुलकर अपनी तेज रफ्तार गेंदबाजी और ताबड़तोड़ बल्लेबाजी से दुनियाभर में नाम कमा रहे हैं। अर्जुन तेंदुलकर का ताज़ा कमाल देखने को मिला है ऑस्ट्रेलियाई सरजमीं पर जहां उन्होंने अपने प्रदर्शन से सभी क्रिकेट फैंस का ध्यान खींचा है। अर्जुन तेंदुलकर ने स्पिरिट ऑफ क्रिकेट ग्लोबल चैलेंज के एक मैच में गेंद और बल्ले से कमाल का प्रदर्शन कर अपनी टीम को जीत दिलाई।

अर्जुन तेंदुलकर का ऑलराउंड खेल
18 साल के अर्जुन तेंदुलकर सिडनी क्रिकेट ग्राउंड की ओर से आयोजित टूर्नामेंट में हिस्सा लेने ऑस्ट्रेलिया गए हुए हैं जहां वो क्रिकेटर्स क्लब ऑफ इंडिया के लिए खेल रहे हैं। ब्रैडमैन ओवल मैदान पर हॉन्ग कॉन्ग क्रिकेट क्लब के खिलाफ हुए टी20 मैच में अर्जुन ने 27 गेंदों में 48 रनों की पारी खेली और उसके बाद चार ओवरों में चार विकेट भी झटक डाले। अपने इस प्रदर्शन पर अर्जुन तेंदुलकर बेहद खुश नजर आए और बयान दिया, ‘मैं उस मैदान पर खेलकर बहुत खुश हूं जिसका नाम डॉन ब्रैडमैन पर रखा गया है। मैं अब मजबूत हो रहा हूं और मेरा कद भी बढ़ रहा है। मुझे बचपन से ही तेज गेंदबाजी पसंद है क्योंकि भारत में ज्यादा तेज गेंदबाज नहीं हुए हैं।’

द.अफ्रीकी बल्लेबाज ने खेला 'माइंडगेम', अब नहीं आएगी भारतीय बल्लेबाजों को नींद!
द.अफ्रीकी बल्लेबाज ने खेला 'माइंडगेम', अब नहीं आएगी भारतीय बल्लेबाजों को नींद!

बेन स्टोक्स और मिचेल स्टार्क हैं अर्जुन के आदर्श
ऑलराउंडर अर्जुन तेंदुलकर के पिता सचिन तेंदुलकर को आज भी लाखों क्रिकेटर अपना आदर्श मानते हैं लेकिन अर्जुन अपने पिता नहीं किसी और को अपना आदर्श बताते हैं। अर्जुन तेंदुलकर इंग्लैंड के ऑलराउंडर बेन स्टोक्स और ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज मिचेल स्टार्क को अपना आदर्श मानते हैं। जाहिर है अर्जुन एक तेज गेंदबाज हैं और वो अच्छे हिट भी लगाते हैं ऐसे में उनके आदर्श एक ऑलराउंडर और तेज गेंदबाज ही होगा।