सलमान बट © Getty Images
सलमान बट © Getty Images

पाकिस्तान के पूर्व कप्तान और स्पॉट फिक्सिंग में सजा काट चुके सलमान बट ने बड़ा बयान देते हुए कहा है कि वो फिर से पाकिस्तान की टीम में खेलना चाहते हैं। इसके पीछे बट का मकसद प्रशंसकों में अपनी छवि (इमेज) को सुधारना है। पाकिस्तानी टीवी चैनल से बातचीत में बट ने कहा, ‘मुझे इसकी उम्मीद है कि एकबार फिर मुझे पाकिस्तान की तरफ से क्रिकेट खेलने का मौका मिलेगा। मैं चाहता हूं कि वापसी के बाद मैं शानदार खेल दिखाऊं और प्रशंसकों के दिलों से अपनी नकारात्मक छवि हटा सकूं।’

साल 2010 में इंग्लैंड दौरे पर बट पर स्पॉट फिक्सिंग का आरोप था। बट ने अपने दो गेंदबाजों से सटोरियों के कहने पर नो बॉल फेंकने को कहा था। बाद में बट ने इस बात को स्वीकारा था। इसके बाद बट को क्रिकेट से बैन और सजा का भी सामना करना पड़ा था। हालांकि अब वो सजा काट चुके हैं और 5 साल का निलंबन भी झेल चुके हैं और क्रिकेट खेलने के लिए योग्य भी हो चुके हैं। घरेलू मैचों में भी बट ने बेहतरीन खेल दिखाया है और हाल ही में उन्होंने कामरान अकमल के साथ 209 रनों की साझेदारी की थी।

एंजेलो मैथ्यूज ने कहा तीसरे दिन प्रदूषण स्तर पहले से भी बुरा था
एंजेलो मैथ्यूज ने कहा तीसरे दिन प्रदूषण स्तर पहले से भी बुरा था

बट ने पाकिस्तान की तरफ से तीनों फॉर्मेट खेले हैं। 33 टेस्ट मैचों में बट ने 30.46 के औसत से 1,889 रन बनाए हैं। इस दौरान उनके बल्ले से 3 शतक, 10 अर्धशतक निकले हैं। वहीं बट ने अपना अपना आखिरी टेस्ट मैच 26 अगस्त, 2010 को खेला था। वहीं बट ने 78 वनडे मैचों में 36.82 के औसत से 2,725 रन बनाए हैं। वनडे मैचों में बट के बल्ले से 8 शतक, 14 अर्धशतक निकले हैं। बट ने आखिरी वनडे 19 जून, 2010 को खेला था। इसके अलावा 24 टी20 मैच में उन्होंने 28.33 के औसत से 595 रन बनाए हैं। बट आखिरी बार टी20 में पाकिस्तान की जर्सी में 6 जुलाई, 2010 को नजर आए थे।