×

IPL 2022: दिल्ली कैपिटल्स के कप्तान पद से हटाए जाने पर बोले श्रेयस अय्यर-ये बड़ा झटका था

आईपीएल 2022 मेगा ऑक्शन के दौरान केकेआर ने अय्यर को 12.25 करोड़ रुपये में खरीदा और फिर उन्हें अपना नया कप्तान बनाया।

भारतीय बल्लेबाज श्रेयस अय्यर (Shreyas Iyer) ने इंडियन प्रीमियर लीग (IPL 2022) के 15वें सीजन के लिए कोलकाता नाइट राइडर्स के नए कप्तान बनने के बाद पिछले सीजन दिल्ली कैपिटल्स (Delhi Capitals) के कप्तान पद के हटाए जाने पर पहली बार प्रतिक्रिया दी।

श्रेयस ने सात सीज़न के बाद 2019 में अपनी कप्तानी में दिल्ली कैपिटल्स को प्लेऑफ में पहुंचाया। जहां वो एलिमिनेटर में सनराइजर्स हैदराबाद (SRH) को हराने के बाद ग्रुप में तीसरे स्थान पर रहे थे लेकिन दूसरे क्वालीफायर में चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) से हारकर खिताब जीतने से चूक गए।

हालांकि इंग्लैंड के खिलाफ घरेलू वनडे सीरीज के दौरान कंधे की चोट के कारण उन्हें 2021 सीजन के पहले भाग से बाहर कर दिया गया था। बाद में यूके में सर्जरी करवाने के बाद अय्यर ने यूएई में हुए टूर्नामेंट के दूसरे हिस्से में वापसी की। लेकिन अय्यर की वापसी के बावजूद रिषभ पंत जो पहले सीजन में दिल्ली की कप्तानी कर रहे थे, उन्हें दूसरे भाग के लिए कप्तान बरकरार रखा गया।

ये पूछे जाने पर कि उनके लिए सबसे बड़ी कमी कौन सी थी – चोट या कप्तानी गंवाना – श्रेयस ने टाइम्स ऑफ इंडिया से बातचीत में कहा, “चोट। वो एक बड़ी निराशा थी। अगर ऐसा नहीं होता तो वो मुझे कप्तान के तौर पर नहीं छोड़ते। दिल्ली कैपिटल्स में, आपने 2021 की शुरुआत में हमारा माहौल देखा, जिसे हमने 2019 और 20 से बनाया था। माहौल अद्भुत था। खिलाड़ी एक-दूसरे को अंदर से जानते थे, उनकी ताकत और कमजोरियां पहचानते थे। मैं इसकी गहराई में नहीं जाना चाहता।”

15वें सीजन से पहले दिल्ली फ्रेंचाइजी ने अय्यर को रिलीज किया था। जिसके बाद में केकेआर ने अय्यर को 12.25 करोड़ रुपये में खरीदा और फिर उन्हें अपना नया कप्तान बनाया।

उन्होंने कहा, “कभी-कभी चीजें बेहतर के लिए होती हैं। बस इतना ही कि हमें इसके बारे में बाद में पता चलता है। मैं न्यूजीलैंड में सही स्थिति में था और अपने और अपनी बल्लेबाजी पर वास्तव में आत्मविश्वास महसूस करने लगा। कप्तान के रूप में, आईपीएल में मेरा शानदार सीजन चल रहा था और मैंने लगभग 500 रन बनाए।”

अय्यर ने कहा, “मैं अच्छी मानसिक स्थिति में था और फिर वो चोट मेरे दिमाग में खेलने लगी। जबरन ब्रेक कभी आसान नहीं होते क्योंकि आपको फिर से शुरुआत करनी होती है। चोट लगना और रीहैब दर्दनाक हैं। लेकिन मुझे कहना होगा, ये बाद में अच्छा ही रहा। चोट ने मुझे महसूस कराया था कि मैं उस खिलाड़ी का 50% था जो मैं अन्यथा हूं। पूरी तरह से ठीक होने के बाद, मैं तरोताजा होकर वापस आया हूं और अच्छा महसूस कर रहा हूं। इसलिए जो होता है अच्छे के लिए होता है।”

trending this week