Sports News Today February 24, Ten wicket wins for New Zealand vs India: भारतीय क्रिकेट टीम ने 2 मैचों की टेस्ट सीरीज में हार से शुरुआत की है. वेलिंगटन में खेले गए पहले टेस्ट मैच में मेजबान न्यूजीलैंड के गेंदबाजों ने मेहमान टीम इंडिया की बल्लेबाजी क्रम को तहस-नहस कर दिया. नतीजतन विराट कोहली एंड कंपनी को क्रिकेट के सबसे लंबे फॉर्मेट में शर्मनाक हार झेलने पर मजबूर होना पड़ा. न्यूजीलैंड ने भारत को 10 विकेट से हराकर सीरीज में 1-0 की बढ़त बना ली है. आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के तहत पहली बार टीम इंडिया को टेस्ट मैच में हार मिली है. इससे पहले कोहली की अगुआई में टीम इंडिया ने ICC World Test Championship के तहत 7 टेस्ट खेले थे और सभी जीते थे.

भारत को हरा 90 साल बाद न्यूजीलैंड ने लगाई ‘टेस्ट जीत’ की सेंचुरी

टीम इंडिया के साथ ऐसा पहली बार नहीं हुआ है जब उसे न्यूजीलैंड में 10 विकेट से शिकस्त मिली हो. ये तीसरा मौका है जब भारतीय टीम को 10 विकेट से हार झेलने पर मजबूर होना पड़ा है. इससे पहले भारतीय टीम 2 बार इसी अंतर से कीवी टीम के खिलाफ उसकी सरजमीं पर टेस्ट गंवा चुकी है.

न्यूजीलैंड ने 1989-90 में क्राइस्टचर्च में खेली गई 3 मैचों की सीरीज के पहले टेस्ट मैच में भारत को 10 विकेट से पराजित किया था. उस समय टीम की कमान मोहम्मद अजहरूद्दीन के हाथों में थी. न्यूजीलैंड ने पहली पारी में 459 रन बनाए थे. जवाब में भारतीय टीम 164 रन पर ढेर हो गई थी. इस तरह कीवी टीम को पहली पारी में 285 रन की बढ़त प्राप्त थी. फॉलोऑन खेलने पर मजबूर भारतीय टीम दूसरी पारी में 296 रन ही बना सकी. इस तरह न्यूजीलैंड को सिर्फ 2 रन का लक्ष्य मिला जो उसने बिना कोई विकेट गंवाए पहले ओवर की 5वीं गेंद पर ही हासिल कर लिया.

भारत को 10 विकेट से हराकर न्यूजीलैंड ने आईसीसी टेस्ट चैंपियनशिप में लगाई बड़ी छलांग

भारत को दूसरी बार 2002-03 में 2 मैचों की टेस्ट सीरीज में भी पहला टेस्ट मैच 10 विकेट से गंवाने पर मजबूर होना पड़ा था. वेलिंगटन में खेले गए इस मैच में सौरव गांगुली की अगुआई वाली टीम इंडिया पहली पारी में 161 रन पर सिमट गई थी. जवाब में न्यूजीलैंड की टीम ने 247 रन बनाए थे. कीवी टीम को पहली पारी में 86 रन की बढ़त मिली थी. भारतीय टीम दूसरी पारी में 121 रन ही बना सकी. न्यूजीलैंड के सामने 36 रन का लक्ष्य था जो उसने 10वें ओवर की तीसरी गेंद पर बिना कोई विकेट गंवाए हासिल कर लिए थे.

मौजूदा सीरीज के पहले टेस्ट मैच में भी टीम इंडिया पहली पारी में 165 रन पर ढेर हो गई थी. इसके जवाब में मेहमान टीम ने 348 रन बनाकर 183 रन की बढ़त हासिल की थी. भारतीय टीम दूसरी पारी में ओपनर मयंक अग्रवाल के 58 रन के दम पर 191 रन बनाने में सफल रही. कीवी टीम के सामने महज 9 रन का लक्ष्या था जो उसने बिना कोई विकेट खोए दूसरे ओवर की चौथी गेंद पर हासिल कर लिया.