श्रीलंका क्रिकेट (एसएलसी) को उसके पहले टी-20 के आयोजन के लिए खेल मंत्रालय से हरी झंडी मिल चुकी है लेकिन लंका प्रीमियर लीग (एलपीएल) का भविष्य देश की सीमाएं खोलने के सरकार के फैसले पर निर्भर करेगा. बावजूद इसके एसएलसी 8 से 22 अगस्त के बीच इस लीग के आयोजन को लेकर आश्वस्त है. श्रीलंकाई सरकार ने कोविड-19 महामारी के कारण देश के अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे फिर से खोलने की तिथि एक अगस्त तक बढ़ा दी है.

श्रीलंका क्रिकेट के सचिव एशले डिसिल्वा ने ईएसपीएनक्रिकइन्फो से कहा, ‘हम महामहिम (राष्ट्रपति गोटाबाया राजपक्षे) से बात करने की उम्मीद कर रहे हैं और देखते हैं कि किसी नतीजे पर पहुंचते हैं या नहीं. श्रीलंका ने क्षेत्र के अन्य देशों की तुलना में कोरोना वायरस को रोकने के लिए बहुत अच्छा काम किया है और इसलिए विदेशी खिलाड़ी इस टूर्नामेंट में भाग लेने में दिलचस्पी दिखा रहे हैं. ’

1700 से अधिक लोग स्वस्थ हो चुके हैं 

श्रीलंका में कोरोना वायरस के 2000 से अधिक ही मामले सामने आये जिसमें 1700 से अधिक स्वस्थ हो चुके हैं. फ्रेंचाइजी आधारित श्रीलंका प्रीमियर लीग में पांच टीमों के भाग लेने की संभावना है. इस टूर्नामेंट की अवधि भारत के दौरे पर निर्भर करेगी जो अभी स्थगित कर दिया गया है. दोनों बोर्ड अगस्त में इसके आयोजन के लिए विकल्पों पर विचार कर रहे हैं.

’23 की जगह 13 मैचों का आयोजन कर सकते हैं’

डिसिल्वा ने कहा, ‘अभी हम टूर्नामेंट में 23 मैचों के आयोजन की सोच रहे हैं लेकिन अगर भारत खेलने के लिए तैयार हो जाता है तो हो सकता है कि हम 13 मैचों का ही आयोजन करें.’