सुरेश रैना © Getty Images
सुरेश रैना © Getty Images

लंबे समय से भारतीय टीम से बाहर चल रहे बल्लेबाज सुरेश रैना ने आखिरकार अपने कमबैक को लेकर बयान दिया है। द इंडियन एक्सप्रेस को दिए एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में रैना ने कहा कि उन्हें खुद को साबित करने की जरूरत नहीं है, वह कड़ी मेहनत के दम पर टीम इंडिया में वापसी करके ही रहेंगे। रैना ने कहा, “मुझे किसी और के सामने खुद को साबित करने की कोई जरूरत नहीं है। जब मैने क्रिकेट खेलना शुरू किया था तो सोशल मीडिया नहीं था, केवल आपका प्रदर्शन आपके लिए बोलता था। मेरी सोच साफ है, आज नहीं तो कल, कल नहीं तो परसो, परसो नहीं को नरसो, मुझे जो चाहिए वो मैं लेकर रहूंगा। वो भी केवल अपनी मेहनत के दम पर, मुझे मेहनत करना पसंद है। ये मैरा पैशन है, अगर मौका मिले तो छोड़ना नहीं है।”

रैना ने ये भी बताया कि किस तरह सचिन तेंदुलकर ने मुश्किल समय में उनकी मदद की थी। दरअसल रैना जब परेशान थे तो वह सचिन के साथ समय बिताने मुंबई चले गए थे। इस दौरान सचिन ने बल्लेबाजी अभ्यास में उनकी मदद की और रैना को कई जरूरी बातें भी समझाईं। रैना ने इस बारे में कहा, “सचिन पाजी तकनीकि रूप से सबसे बेहतरीन क्रिकेटर हैं, उनकी बताई चीजें अहम होती हैं।” श्रीलंका दौरे पर जाने वाली टीम में रैना का चयन ना होने पर खबरें आ रही थी कि वह यो-यो टेस्ट में फेल हो गए थे, इसी वजह से उन्हें टीम में नहीं लिया गया। रैना ने इन सभी खबरों को बकवास बताया। रैना ने कहा, “ये सब मीडिया की बनाई बाते हैं, अगर मैं किसी टेस्ट में फेल होता तो बोर्ड और ट्रेनर मुझे बताते।” [ये भी पढ़ें: हार्दिक पांड्या को डेट करने की खबरों पर परिणीति चोपड़ा का बड़ा बयान]

रैना इन दिनों अपनी फिटनेस पर लगातार काम कर रहे हैं। उनके सभी सोशल मीडिया अकाउंट्स को देखकर भी यही पता चलता है। रैना ने बताया कि पिछले 4-5 महीने से वह इस पर काम कर रहे हैं और उन्होंने 5 किलो से ज्यादा वजन कम किया है। टीम इंडिया के सबसे फिट फील्डर एक बार फिर मैदान पर पसीना बहाने को तैयार हैं। रैना फिलहाल दिलीप ट्रॉफी में इंडिया ब्लू की कप्तानी कर रहे हैं। रैना की टीम 13 सितंबर को कानपुर के ग्रीनपार्क स्टेडियम में इंडिया रेड के खिलाफ खेलेगी। रैना को यकीन है कि इस टूर्नामेंट में अच्छा प्रदर्शन कर टीम इंडिया में उनकी वापसी के रास्ते खुल जाएंगे।