Syed Mushtaq Ali Trophy 2021, Tamil Nadu vs Baroda: Dinesh Karthik lead team win Title after beating Baroda in Final
Syed Mushtaq Ali Trophy 2021, Tamil Nadu vs Baroda

सैय्यद मुश्‍ताक अली ट्रॉफी के खिताबी मुकाबले में रविवार को दिनेश कार्तिक की कप्‍तानी वाली तमिलनाडु की टीम ने सात विकेट से बड़ोदरा को हराकर कब्‍जा किया। यह दूसरा मौका है जब तमिलनाडु इस घरेलू टी20 टूर्नामेंट पर कब्‍जा करने में सफल रहा रहै। जीत के हीरो मैन ऑफ द मैच एम सिद्धार्थ रहे जिन्‍होंने चार विकेटों हॉल अपने नाम कर बडोदरा को महज 120 रन पर ही सीमित कर दिया।

तमिलनाडु ने इससे पहले 2006-07 में पहली बार यह खिताब जीता था। तमिलनाडु को पिछले साल फाइनल में कर्नाटक से एक रन से हार का सामना करना पड़ा था, लेकिन इस बार टीम ने खिताब पर कब्जा जमाने में कोई गलती नहीं की। बड़ौदा 2013-14 के बाद दूसरी बार खिताब जीतने से चूक गया।

भारत का किला ध्‍वस्‍त करना कठिन लेकिन वो अभेद नहीं हैं: स्‍टुअर्ट ब्रॉड

तमिलनाडु ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करते हुए बड़ौदा को नौ विकेट पर 120 रनों पर थाम दिया। इसके बाद उसने दो ओवर शेष रहते तीन विकेट खोकर इस आसान से लक्ष्य को हासिल कर लिया।

बड़ौदा से मिले 121 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी तमिलनाडु ने 26 के स्कोर पर इस सीजन के टॉप स्कोरर एन जगदीशन (14) का विकेट गंवा दिया।

इसके बाद उसने हरि निशांत (35), बाबा अपराजित (नाबाद 29) और कप्तान दिनेश कार्तिक (22) के उपयोगी पारियों के सहारे लक्ष्य को हासिल कर लिया। निशांत ने 38 गेंदों पर तीन चौके और एक छक्का लगाया। बाबा ने 35 गेंदों पर एक चौका और कार्तिक ने 16 गेंदों पर तीन चौके लगाए।

शाहरुख खान ने सात गेंदों पर दो चौकों और एक छक्के की मदद से नाबाद 18 रन बनाए। बड़ौदा की ओर से अतीत सेठ, लुकमल मेरिवाला और बाबाशफी पठान ने एक-एक विकेट लिया।

इससे पहले, तमिलनाडु ने बड़ौदा को नौ विकेट पर 120 रनों पर थाम दिया। तमिलनाडु ने टॉस जीतकर बड़ौदा को पहले बल्लेबाजी करने के लिए आमंत्रित किया। बड़ौदा की शुरुआत काफी खराब रही और टीम ने 8.1 ओवर में 32 रन तक अपने शुरुआती पांच विकेट गंवा दिए।

IPL 2021: 11 अप्रैल से शुरू होगा टूर्नामेंट; 5 या 6 जून को खेला जा सकता है फाइनल

इन पांच विकेटों में इस सीजन में सर्वाधिक रन बनाने वालों बल्लेबाजों की सूची में दूसरे नंबर पर चल रहे कप्तान केदार देवधर (10), निनंद रत्वा (1), समित पटेल (1), भानू पानिया (0) और अभिमन्यु राजपूत (2) के विकेट शामिल हैं।

हालांकि क्वार्टर फाइनल में तूफानी अर्धशतकीय पारी खेलने वाले विष्णु सोलंकी ने एक छोर संभाले रखा। लेकिन दूसरी तरफ से बड़ौदा के विकेटों का गिरने का सिलसिला जारी रहा। टीम को छठा झटका 36 के स्कोर पर कार्तिक काकड़े (4) के रूप में लगा।

इस बीच, सोलंकी ने अतीत सेठ (29) के साथ सातवें विकेट के लिए 58 रनों की साझेदारी की। सेठ टीम के 94 रनों के स्कोर पर आउट हुए। उन्होंने 30 गेंदों पर दो चौके और एक छक्का लगाया।

सोलंकी ने फिर अंतिम ओवरों में ताबड़तोड़ बल्लेबाजी करते हुए 55 गेंदों पर एक चौका और दो छक्कों की मदद से 49 रनों की पारी खेलकर टीम को नौ विकेट पर 120 रनों के सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचाया। भार्गव भटट ने नाबाद 12 रन बनाए।

तमिलनाडु की ओर से एम. सिद्धार्थ ने सर्वाधिक चार विकेट लिए। उनके इस शानदार प्रदर्शन के चलते उन्हें मैन आफ द मैच और मैन आफ द सीरीज का भी पुरस्कार दिया गया। उनके अलावा बाबा अपराजित और मुरुगन अश्विन को एक-एक विकेट मिला।