Trent Boult, Quinton De Kock and our other foreign players reached their destination safely: Mumbai Indians
ट्रेंट बोल्ट (BCCI)

पंजाब किंग्स के बाद पांच बार इंडियन प्रीमियर लीग खिताब जीत चुकी मुंबई इंडियंस ने सूचना दी है कि उनके सभी विदेशी खिलाड़ी और सहयोगी सदस्य सुरक्षित रूप से अपने-अपने घर पहुंच गए हैं।

कोविड-19 के कारण बीसीसीआई ने आईपीएल का 14वां सीजन अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया है। बायो-बबल में कोविड-19 संक्रमण के पॉजिटिव मामले सामने आने के बाद बोर्ड को टूर्नामेंट बीच में ही रोकना पड़ा।

मुंबई इंडियंस ने अपने आधिकारिक अकाउंट से ट्वीट किया, ‘‘मुंबई इंडियंस के दल के सभी विदेशी सदस्य अपने घरों तक सुरक्षित पहुंच गए हैं। पलटन, ये सुनिश्चित करें कि आप सभी सुरक्षा प्रोटोकॉल का पालन कर रहे हैं। घर पर रहें। सुरक्षित रहें।’’

टूर्नामेंट को चार मई को रोके जाने के बाद टीम से जुड़े 14 खिलाड़ियों और सहयोगी सदस्यों ने भारत छोड़ दिया है।

फ्रेंचाइजी के मुताबिक, कीरोन पोलार्ड सुरक्षित रूप से त्रिनिदाद पहुंच गये हैं जबकि दक्षिण अफ्रीकी विकेटकीपर-बल्लेबाज क्विंटन डिकॉक और मार्को जेनसन जोहानिसबर्ग पहुंच चुके हैं।

फ्रेंचाइजी के ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी क्रिस लिन, नाथन कूल्टर-नाइल और मुख्य कोच महेला जयवर्धने के साथ सहयोगी सदस्य एक चार्टर्ड विमान से मालदीव गए हैं। जहां वो 14-दिनों तक पृथकवास में रहेंगे।

टीम से जुड़े न्यूजीलैंड के खिलाड़ी एडम मिल्ने, जिमी नीशम और ट्रेंट बोल्ट और सहयोगी स्टाफ, फ्रेंचाइजी द्वारा व्यवस्थित चार्टर्ड विमान से ऑकलैंड पहुंच गए हैं।

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Trent Boult (@trrrent_)

बोल्ट ने अपने इंस्टाग्राम पोस्ट के जरिए उन्हें सुरक्षित घर पहुंचाने के लिए मुंबई इंडियंस का शुक्रिया अदा किया। साथ ही इस मुश्किल समय में भारत के प्रति समर्थन दिया। बोल्ट ने लिखा, “मेरा दिल भारत के लोगों की ओर जाता है, हालांकि मैं मुंबई इंडियंस के अपने परिवार को छोड़कर और आईपीएल को खत्म होते देख दुखी हूं लेकिन ये सब उस दुख के सामने कुछ भी नहीं है जिससे कई लोग फिलहाल गुजर रहे हैं।”

कीवी खिलाड़ी ने आगे लिखा, “भारत एक ऐसी जगह है जिसने मुझे एक क्रिकेटर और व्यक्ति के रूप में बहुत कुछ दिया है। मैंने हमेशा अपने भारतीय प्रशंसकों से मिले समर्थन की दिल से सराहना की है। ये दुखद समय है और मुझे उम्मीद है कि चीजें जल्द ही सुधर सकती हैं। मैं इस खूबसूरत देश में लौटने का इंतजार कर रहा हूं।”