महेंद्र सिंह धोनी © Getty Images
महेंद्र सिंह धोनी © Getty Images

भारतीय टीम के मुख्य चयनकर्ता एम एस के प्रसाद ने महेंद्र सिंह धोनी को लेकर बड़ा खुलासा किया है। प्रसाद ने बताया कि धोनी किस कदर जुझारू और हिम्मतवाले खिलाड़ी हैं। भारत को एशिया कप में पाकिस्तान के खिलाफ मुकाबला खेलना था और मुकाबले से पहले धोनी चोटिल हो गए थे। जब प्रसाद ने धोनी से पूछा तो धोनी ने कहा था कि आप चिंता मत करिए अगर मेरा एक पैर भी बचा तो भा मैं पाकिस्तान के खिलाफ खेलूंगा। प्रसाद ने उस पल को याद करते हुए ये बड़ा खुलासा किया है। ये भी पढ़ें: तीसरे वनडे में एम एस धोनी फिर रहे नॉट आउट, बना दिया ये विश्व रिकॉर्ड

प्रसाद ने कहा, ”धोनी जिम में वर्क आउट कर रहे थे तभी एक वेट आकर उनकी कमर पर गिर गया। इसके बाद उन्हें काफी दर्द हो रहा था और चलने में भी तकलीफ हो रही थी। इस दौरन उन्होंने अलार्म बैल बजाई और मेडिकल टीम उनके पास तुरंत पहुंची। जब मीडिया ने मुझसे धोनी पर सवाल किया तो मेरे पास कोई भी जवाब नहीं था। मैं इसके बाद धोनी के पास गया तो उन्होंने मुझे देखते ही कहा, चिंता पत करिए एम एस के भाई। मैंने उनसे पूछा कि मैं मीडिया से क्या कहूं, क्या मैं आपके विकल्प को बांग्लादेश बुलाऊं? इसपर धोनी ने फिर से कहा, चिंता मत करिए एम एस के भाई।”

प्रसाद ने आगे कहा, ”मुझे काफी चिंता हो रही थी। पाकिस्तान के खिलाफ बड़ा मैच था और इससे मैं काफी दबाव में भी था। मैंने तुरंत मुख्य कोच संदीप पाटिल को सारी घटना की जानकारी दी। इसके बाद हमने पार्थिव पटेल को बांग्लादेश बुला लिया। इसके बाद मैं शाम को धोनी के घर गया। एशिया कप के नियमों के मुताबिक हमें 24 घंटे पहले प्लेइंग इलेवन की रिपोर्ट देनी थी। मैंने धोनी से बात की तो उन्होंने कहा कि मैं खेलूंगा। मैं रात को 11 बजे फिर से धोनी के पास गया। मैं उनकी हालत के बारे में अपडेट लेना चाहता था। धोनी की हालत मुझे ठीक नहीं लग रही थी। धोनी ने मेरी तरफ देखा और कहा कि चिंता की कोई बात नहीं है और वैसे भी आपने पार्थिव को तो बुला ही लिया है।”

प्रसाद ने आगे कहा, ”मैच वाले दिन से पहले हर कोई हैरान था। धोनी पैड पहने हुए था और मैच खेलने के लिए तैयार था। उन्होंने मुझे अपने कमरे में बुलाया और कहा कि आप इतनी चिंता क्यों करते हैं अगर मेरा एक ही पैर बचा होता ना तब भी मैं पाकिस्तान के खिलाफ मुकाबला खेलता।”