टी20 विश्व कप 2021 में इंग्लैंड के खिलाफ शानदार जीत के बावजूद सेमीफाइनल में पहुंचने में नाकाम रही दक्षिण अफ्रीकी टीम के कप्तान टेम्बा बावुमा (Temb Bavuma) ने माना कि टी20 विश्व कप ने उन्हें ये कड़ा सबक सिखाया कि इस तरह के टूर्नामेंट में केवल जीत ही नहीं अच्छी तरह से जीत दर्ज करना अधिक महत्वपूर्ण होता है।

इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका तीनों ग्रुप एक में समान आठ-आठ अंक रहे लेकिन बेहतर नेट रन रेट के कारण पहली दो टीमें अंतिम चार में पहुंची।

बावुमा ने इंग्लैंड पर 10 रन से जीत के बाद कहा, ‘‘जीत महत्वपूर्ण है लेकिन हमारे लिए अंत अच्छा नहीं रहा। जीत के लिहाज से हम जो चाहते थे वो हमने हासिल किया लेकिन हम अच्छी तरह से जीत (बड़ी जीत) दर्ज नहीं कर पाए। टूर्नामेंट के शुरू में ये बड़ा मसला नहीं था और हमने केवल मैच जीतने पर ध्यान दिया। आखिरी मैच में खासकर इंग्लैंड जैसी मजबूत टीम के खिलाफ नेट रन रेट का समीकरण बनना बहुत कड़ा था। लेकिन मुझे अपनी टीम पर गर्व है।’’

दक्षिण अफ्रीका ने पहले बल्लेबाजी करते हुए रॉसी वान डर डुसेन के नाबाद 94 और एडेन मारक्रम के नाबाद 52 रन की मदद से दो विकेट पर 189 रन बनाए। सेमीफाइनल में जगह बनाने के लिए उसे इंग्लैंड को 131 रन से कम पर रोकना था। इंग्लैंड ने आठ विकेट पर आठ विकेट पर 179 रन बनाकर आस्ट्रेलिया की जगह भी सेमीफाइनल में पक्की कर दी।

डुसेन को मैन ऑफ द मैच चुना गया लेकिन वो टीम के बाहर हो जाने से खुश नहीं थे। उन्होंने कहा, ‘‘सेमीफाइनल के लिहाज से यह (जीत) मायने नहीं रखता। हम जानते थे कि हमें बड़ा स्कोर बनाना होगा। हम सेमीफाइनल में नहीं पहुंच पाए लेकिन फिर भी हमने एक अच्छी टीम को हराया।’’