विजडन ने दशक की टी20 इंटरनेशनल टीम में भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली और युवा तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह को शामिल किया है. पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी और टी-20 में 4 शतक जड़ने वाले ‘हिटमैन’ रोहित शर्मा टीम में जगह नहीं बना पाए.

ऑस्ट्रेलिया ने भी माना कोहली का लोहा, इस कंगारू दिग्गज ने विराट को बनाया टेस्ट टीम का कप्तान

इस टीम की कमान ऑस्ट्रेलिया के लिमिटेड ओवर टीम कप्तान एरोन फिंच के हाथों में है. फिंच सहित शेन वॉटसन और ग्लेन मैक्सवेल भी ऑस्ट्रेलिया की ओर से शामिल हैं. इंग्लैंड के जोस बटलर और डेविड विली, अफगानिस्तान के ऑलराउंडर मोहम्मद नबी और राशिद खान, न्यूजीलैंड के कोलिन मुनरो और श्रीलंका के लसिथ मलिंगा को भी जगह मिली है.

कोहली का औसत 53 है जो दशक में सर्वश्रेष्ठ है

विजडन ने कोहली के बारे में लिखा है, ‘कोहली का घरेलू टी-20 रिकॉर्ड उतार-चढ़ाव वाला रहा है लेकिन टी-20 अंतरराष्ट्रीय में ऐसा नहीं कहा जा सकता है. कोहली का औसत 53 है जो दशक में सर्वश्रेष्ठ है और जबकि उनकी निरंतरता उनके स्ट्राइक रेट से थोड़ा समझौता करती है, तब भी वह असाधारण नहीं लेकिन अच्छी दर से स्कोर बनाने में सक्षम हैं.’

‘कोहली नंबर तीन के आदर्श खिलाड़ी’

विजडन ने अपनी वेबसाइट पर लिखा है, ‘तेज और स्पिन गेंदबाजी के सामने दमदार और विकेटों के बीच तेज दौड़ के कारण कोहली नंबर तीन के आदर्श खिलाड़ी हैं जो शुरू में विकेट गिरने के बाद तीक्ष्ण गेंदबाजी का डटकर सामना करके पारी संवारने में सक्षम हैं लेकिन साथ ही अच्छी शुरुआत मिलने पर तेजी से रन बना सकते हैं. पहले विकेट के लिए बड़ी साझेदारी होने पर कोहली इस एकादश के बल्लेबाजी क्रम में नीचे आएंगे.’

कोहली को विजडन ने दशक के 5 खिलाड़ियों में शामिल किया था. इनमें स्टीव स्मिथ, डेल स्टेन, एबी डिविलियर्स और एलिस पैरी भी शामिल थे.

‘बुमराह का ओवरऑल इकोनोमी रेट 6.71 है जो दूसरा सर्वश्रेष्ठ है’

कोहली को जहां विजडन की दशक की टी-20 टीम में बल्लेबाजों में जगह मिली है वहीं गेंदबाजों में बुमराह अपने शानदार ‘इकोनोमी रेट’ और डेथ ओवरों की बेहतरीन गेंदबाजी के कारण अंतिम एकादश में स्थान बनाने में सफल रहे.

Year-Ender 2019: ‘कोहली एंड कंपनी’ ने इस साल बनाए कई ‘विराट’ रिकॉर्ड, कोई भी टीम नहीं इसके आसपास

विजडन ने लिखा है, ‘बुमराह का ओवरऑल इकोनोमी रेट 6.71 है जो विश्व के तेज गेंदबाजों में डेल स्टेन के बाद दूसरा सर्वश्रेष्ठ है. यह आंकड़ा तब और प्रभावशाली लगता है जब आप इस पर गौर करो कि उन्होंने अधिकतर गेंदबाजी डेथ ओवरों में की जहां उनका 7.27 का इकोनोमी रेट विश्व में सातवां सर्वश्रेष्ठ और तेज गेंदबाजों में सर्वश्रेष्ठ है. बुमराह अपनी टीम के लिये तीन ओवर डेथ ओवरों में करते रहे हैं.’

गौरतलब है कि कोहली ने इस पिछले एक दशक में कप्तानी और बल्लेबाजी में जमकर अपना लोहा मनवाया है वहीं बुमराह चोट की वजह से टीम से अंदर-बाहर होते रहे हैं. बुमराह लिमिटेड ओवर में डेथ ओवर के स्पेशलिस्ट माने जाते हैं.