Women’s T20 Challenge: Not playing much under the lights is the reason we drop catches; says Veda Krishnamurthy
Veda Krishnamurthy @ Facebook

भारतीय महिला क्रिकेट टीम की लेग स्पिनर वेदा कृष्णमूर्ति ने बीसीसीआई से देश की महिला क्रिकेटरों के लिए अधिक से अधिक डे-नाइट मैच आयोजित करने का अनुरोध किया है।

पढ़ें: रूट बोले- हेल्‍स के बाहर किए जाने से इंग्‍लैंड की टीम एकजुट हुई है

वेदा का कहना है कि इससे सिर्फ दर्शक ही आकर्षित नहीं होंगे बल्कि यह भी सुनिश्चित होगा कि खिलाड़ी फ्लड लाइट्स में कैच नहीं टपकाएं।

कृष्णमूर्ति की टीम वेलोसिटी को महिला टी-20 चैलेंज मैच में गुरूवार को सुपरनोवा से 12 रन से हार मिली। इस 26 साल की गेंदबाज ने कहा कि महिला खिलाड़ी फ्लड लाइट में खेलने की इतनी आदी नहीं हैं जो उनके क्षेत्ररक्षण में देखने को मिला, विशेषकर कैच लपकने में।

उन्होंने कहा, ‘कैच टपकाने की वजह फ्लड लाइट में नहीं खेलना था। अकादमी के मैदान पर अभ्यास करते हुए हमें गेंद देखने में मुश्किल हो रही थी। इसलिए गेंद को पकड़ना सचमुच काफी मुश्किल था।’

पढ़ें: एरोन फिंच को भरोसा, विश्व कप जीतने का अनुभव टीम के काम आएगा

कृष्णमूर्ति ने कहा, ‘अगर आप देखें तो दूधिया रोशनी में खेलना काफी चुनौतीपूर्ण है क्योंकि इससे पूरा वातावरण बदल जाता है, इसमें दूधिया रोशनी में जो हवा बहती है और जिस तरह से गेंद मैदान पर जाती है, सब शामिल है। इसलिए दिन के मैच से इसमें काफी कुछ अलग हो जाता है।’

कृष्णमूर्ति ने बीसीसीआई से आग्रह किया कि दूधिया रोशनी में और अधिक मैच कराए जाएं ताकि खिलाड़ी हर तरह के हालात के अनुरूप ढल सकें। महिलाओं के ज्यादातर मैच दिन में आयोजित होते हैं।

उन्होंने कहा, ‘मुझे लगता है कि यह काफी अहम है। कम से कम अगर हम शाम में टी-20 मैच खेलना शुरू कर दें तो इससे ज्यादा दर्शक मैच देखने पहुंचेंगे।’