© Getty Images
© Getty Images

विराट कोहली…ये एक ऐसा नाम है जो पिछले कुछ सालों से वर्ल्ड क्रिकेट में छाया हुआ है। बल्लेबाजी में धूम मचाने के बाद विराट कोहली ने जब से टीम इंडिया की कमान संभाली है वो जीत पर जीत हासिल कर रहे हैं। विराट की कप्तानी में टीम इंडिया टेस्ट और वनडे दोनों फॉर्मेट में नंबर 1 बन चुकी है। विराट कोहली की अगुवाई में टीम इंडिया की कामयाबी देखने के बाद अब सुनील गावस्कर जैसे दिग्गज ये भविष्यवाणी करने लगे हैं कि वो भारत के सबसे महानतम कप्तान होंगे। उनकी अगुवाई में टीम इंडिया सबसे ज्यादा जीत हासिल करेगी, लेकिन सवाल ये है कि क्या सुनील गावस्कर का ये बयान सही है? क्या सिर्फ ज्यादा मैच जीतने से धोनी से ज्यादा महान कप्तान बन जाएंगे विराट कोहली? क्या ज्यादा मैच जीतना होगा विराट कोहली के सबसे महान भारतीय कप्तान बनने का पैमाना? इन सभी सवालों का एक ही जवाब है…बिलकुल नहीं।

Kohli-7

कप्तान के तौर पर विराट का प्रदर्शन

विराट कोहली की कप्तानी की बात करें तो वो अभी इस पद पर बैठे ही हैं। विराट कोहली की कप्तानी में टीम इंडिया 38 में से 30 वनडे मैच जीत चुकी है। मतलब उनकी कप्तानी में टीम इंडिया का जीत प्रतिशत 81.08 फीसदी है जो कि दुनिया में किसी भी कप्तान का नहीं है। टेस्ट सीरीज की बात करें तो विराट कोहली की कप्तानी में टीम इंडिया 8 टेस्ट सीरीज लगातार जीत चुकी है। विराट 29 में से 19 टेस्ट जीत चुके हैं और उनका जीत प्रतिशत भारतीय क्रिकेट इतिहास में सबसे ज्यादा 65.51 फीसदी है। विराट कोहली के इन आंकड़ों को देखकर आपको लगेगा का विराट की कप्तानी बेमिसाल है, लेकिन यहां इस बात पर भी गौर करने की जरूरत है कि विराट कोहली ने अबतक किन टीमों को हराया है, उन टीमों की ताकत क्या थी और टीम इंडिया कहां और कैसी पिच पर खेल रही थी।

Virat-Kohli3

विराट कोहली ने कमजोर टीमों को दी है मात

विराट की कप्तानी में टीम इंडिया लगातार 8 टेस्ट सीरीज जरूर जीती है लेकिन इसमें से 5 टेस्ट सीरीज उसने अपने घर पर खेली हैं और इन सभी सीरीज में स्पिन फ्रेंडली विकेट बनाई गई थी। इन सीरीजों में ऐसी पिच बनाई गई कि दुनिया का कोई भी बल्लेबाज चकरा जाए। पिच पर स्पिनर्स को खूब मदद मिली जिसका टीम इंडिया ने पूरा फायदा उठाया। विदेश में खेली गई टेस्ट सीरीज की बात करें तो टीम इंडिया ने सिर्फ श्रीलंका और वेस्टइंडीज जैसी कमजोर टीमों को ही हराया है।

viraaat

वनडे में भी विराट कोहली की कप्तानी का असल टेस्ट बाकी

वनडे फॉर्मेट में विराट कोहली की कप्तानी की बात करें तो वो अबतक कुल 4 वनडे सीरीज जीत चुके हैं लेकिन ये भी सच है कि 2 सीरीज उन्होंने वेस्टइंडीज और श्रीलंकाई टीम के खिलाफ जीती। इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भी उन्होंने घर पर सीरीज जीती हैं। विराट की कप्तानी का सबसे बड़ा टेस्ट इंग्लैंड में खेली गई आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी थी, जहां फाइनल में वो पाकिस्तान से शर्मनाक तरीके से हार गए।

oi

महान कप्तान बनने के लिए विराट को क्या करना होगा?

विराट कोहली को महान कप्तान बनने के लिए आईसीसी टूर्नामेंट्स में अपनी धाक जमानी होगी। धोनी की तरह उन्हें बड़े मौकों पर अपनी कप्तानी को साबित करना होगा। इसके अलावा उनकी कप्तानी का असली टेस्ट अगले साल द.अफ्रीका दौरे से होगा। टीम इंडिया को द.अफ्रीका, इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलियाई सरजमीं पर टेस्ट और वनडे सीरीज में अपना दम दिखाना होगा। अगर विराट कोहली ये कारनामा कर पाए तभी वो महान कप्तानों की सूची में जगह बना पाएंगे।

dhoni-gi

एम एस धोनी क्यों हैं सबसे महान कप्तान?

एम एस धोनी से महानतम कप्तान की कुर्सी छीनना विराट कोहली के लिए बिलकुल भी आसान नहीं रहने वाला, क्योंकि धोनी ने अपने कप्तानी करियर में ऐसे कारनामे किए हैं जो दुनिया का कोई कप्तान नहीं कर सका है। एम एस धोनी ने भी टीम इंडिया को वनडे और टेस्ट में नंबर 1 की कुर्सी तक पहुंचाया लेकिन इसके साथ-साथ उन्होंने आईसीसी के सभी टूर्नामेंट भी जीते। कप्तानी के तौर पर अपने पहले ही टूर्नामेंट में धोनी ने सभी को हिला कर रख दिया। धोनी की अगुवाई में टीम इंडिया ने द.अफ्रीका में हुआ पहला वर्ल्ड टी20 टूर्नामेंट जीता। इसके बाद धोनी ने साल 2011 में टीम इंडिया को 28 साल बाद वनडे वर्ल्ड कप दिलाया। इसके बाद धोनी की ही कप्तानी में टीम इंडिया आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी 2013 जीती। वो विश्व के पहले कप्तान बने जिसने आईसीसी के तीनों टूर्नामेंट अपने नाम किए।