एमएस धोनी ने तूसरे वनडे में 80 रनों की पारी खेली थी © PTI
एमएस धोनी ने तीसरे वनडे में 80 रनों की पारी खेली थी © PTI

भारत और न्यूजीलैंड के बीच खेले गए तीसरे वनडे में धोनी ने कई कीर्तिमान अपने नाम किए। लेकिन जो एक कीर्तिमान खास रहा वो यह धोनी छक्का लगाकर नौ हजार रन बनाने वाले दुनिया के सिर्फ दूसरे बल्लेबाज बन गए। इससे पहले सौरव गांगुली के नाम ही ये अनोखी उपलब्धि दर्ज थी। वनडे क्रिकेट में नौ हजार रन बनाने वाले धोनी भारत के पांचवें और दुनिया के 17वें क्रिकेटर हैं। लेकिन नौ हजार तक पहुंचने वाले ऐसे पहले खिलाड़ी हैं जिनकी औसत 50 से ज्यादा रही हो। धोनी ने तीसरे वनडे में मिचेल सैंटनर की गेंद पर छक्का जड़कर अपने नौ हजार रन पूरे किए। वहीं धोनी दुनिया के तीसरे विकेटकीपर बल्लेबाज हैं जो अपने करियर में नौ हजार रन पूरे कर सके। आइए आपको बताते हैं सबसे जल्दी नौ हजार रन पूरे करने वाले 9 बल्लेबाजों के बारे में।

9. एडम गिलक्रिस्ट:

कंगारू बल्लेबाज एडम गिलक्रिस्ट ने 268 मैच की 261 पारियों में नौ हजार रन के आंकड़े को छुआ। गिलक्रिस्ट ने श्रीलंका के खिलाफ चौका जड़कर यह उपलब्धि हासिल की थी। गिलक्रिस्ट के लिए ये काफी खास मौका था। क्योंकि एक तो उन्होंने विश्वकप के फाइनल में यह उपलब्धि हासिल की थी और दूसरा ये कि फाइनल में ही गिलक्रिस्ट ने 149 रनों की धमाकेदार पारी खेलकर ऑस्ट्रेलिया को विश्व विजयी बनाया था।

8. राहुल द्रविड़:

भारतीय टीम की दीवार कहे जाने वाले राहुल द्रविड़ ने 280 मैचों की 259 पारियों में नौ हजार रन के आंकड़े को छुआ। राहुल द्रविड़ ने भारत की चिर-प्रतिद्वंदि टीम पाकिस्तान के खिलाफ मौ जहार रन पूरे किए थे। भारत और पाकिस्तान के बीच खेले गए उस मुकाबले में पाक टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 286 रनों का लक्ष्य रखा। जवाब में भारतीय टीम ने मैच को आठ विकेट से अपने नाम किया। भारत की तरफ से उस मुकाबले में युवराज ने शतक और धेनी-द्रविड़ ने अर्धशतक जड़ा था। राहुल द्रविड़ ने उस मुकाबले में 50 रन बनाए थे।

7. मोहम्मद यूसुफ:

पाकिस्तान के बेहतरीन बल्लेबाज औप पाक टीम की रीढ़ की हड्डी कहे जाने वाले बल्लेबाज मोहम्मद यूसुफ ने नौ हजार रन बनाने के लिए 258 मैचों की 245 पारियां लीं। मोहम्मद यूसुफ ने बांग्लादेश के खिलाफ नौ हजार रन पूरे किए थे। बांग्लादेश के खिलाफ खेले गए उस मुकाबले में बांग्लादेश ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 225 रन बनाए और पाकिस्तान के सामने 226 रनों की चुनौती खड़ी की। जवाब में बल्लेबाजी करने उतरी पाक टीम ने डकवर्थ लुईस नियम के आधार पर मैच जीत लिया। मोहम्मद यूसुफ ने उस मैच में नाबाद 32 रन बनाए थे।

6. महेंद्र सिंह धोनी:

भारतीय टीम के सीमित ओवरों के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने 281 मैचों की 244 पारियों में नौ हजार रन पूरे किए। धोनी ने छक्का लगाकर अपने नौ हजार रन पूरे किए, धोनी ने न्यूजीलैंड के खिलाफ यह उपलब्धि हासिल की। न्यूजीलैंड के खिलाफ खेले गए मुकाबले में कीवी टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए भारत के सामने 286 रनों का लक्ष्य रखा था, शुरुआती ओवर में ही भारत को दो झटके लगे और नंबर चार पर खेलने उतरे टीम के कप्तान एमएस धोनी। धोनी ने क्रीज पर आते ही अपने चिर-परिचित अंदाज में बल्लेबाजी की और 80 रन बनाए। जिसकी बदौलत भारत ने मैच को अपने नाम किया। ये भी पढ़ें: विराट कोहली सबसे अच्छे फिनिशर हैं: सौरव गांगुली

5. जैक्स कैलिस:

दक्षिण अफ्रीका के हरफनमौला खिलाड़ी जैक्स कैलिस दुनिया के सबसे बेहतरीन हरफनमौला खिलाड़ी रहे हैं। कैलिस जितनी अच्छी बल्लेबाजी करते थे उतनी ही अच्छी गेंदबाजी भी करते थे। कैलिस ने 256 मैचों की 242 पारियों में अपने करियर में नौ हजार रन पूरे किए। कैलिस ने यह कारनामा इंग्लैंड के खिलाफ पूरा किया था। इंग्लैंड के खिलाफ खेले गए उस मुकाबले में दक्षिण अफ्रीका ने एकतरफा अंदाज में जीत हासिल की थी। विश्व कप के उस मैच में इंग्लैंड की टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए मात्र 154 रनों पर सिमट गई थी। उस मुकाबले में कैलिस ने एक विकेट और नाबाद 17 रन बनाए थे। ये भी पढ़ें: अब मैं पहले जैसा फुर्तीला नहीं रहा: महेंद्र सिंह धोनी

4. रिकी पोंटिंग:

कंगारू टीम के सबसे सफल कप्तान और दुनिया के सबसे महान बल्लेबाजों में से एक रिकी पोंटिंग ने 248 मैचों की 242 पारियों में अपने नौ हजार रन पूरे किए थे। पोंटिंग ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ चौका जड़कर अपने करियर में यह उपलब्धि हासिल की थी। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेले गए उस मुकाबले में पोंटिंग ने बेहतरीन अर्धशतक जड़ा था और पारी में सबसे ज्यादा 62 रन बनाए थे, ऑस्ट्रेलिया ने दक्षिण अफ्रीका के सामने 255 रनों की चुनौती रखी थी और आखिर में दक्षिण अफ्रीका उस मुकाबले को 24 रन से गंवा बैठा था।

3. ब्रायन लारा:

चाहे टेस्ट हो या वनडे लारा दोनों ही फॉर्मेट में गजब के बल्लेबाज रहे हैं। लारा ने वैसे तो टेस्ट में कई कीर्तिमान स्थापित किए हैं लेकिन वनडे में भी वह एक महान बल्लेबाज रहे हैं। लारा ने 246 मैचों की 239 पारियों में अपने करियर में नौ हजार रन पूरे किए थे। लारा ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ नौ हजार रन का शिखर छुआ था। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले गए उस मुकाबले में लारा ने 58 रनों की पारी खेली थी लेकिन लारा की टीम को उस मैच में करारी शिकस्त का सामना करना पड़ा था। ऑस्ट्रेलिया ने पहले बल्लेबाजी करते हुए पचास ओवरों में 301 रनों का टारगेट खड़ा किया था और वेस्टइंडीज की पारी 185 रनों पर ढेर हो गई थी।

2. सचिन तेंदुलकर:

मास्टर-ब्लास्टर, क्रिकेट के भगवान और ना जाने कितने ही नामों से मशहूर सचिन तेंदुलकर के नाम क्रिकेट का शायद ही कोई ऐसा रिक़ॉर्ड होगा जो उनके नाम नहीं होगा। सचिन की बात करें तो सचिन ने 242 मैचों की 235 पारियों में अपने नौ हजार रन पूरे किए थे। सचिन यह उपलब्धि दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ हासिल की थी। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेले गए उस मुकाबले में दक्षिण अफ्रीका ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 320 रनों का विशाल स्कोर खड़ा किया। जवाब में भारतीय टीम ने 48.5 ओवर में 3010 रनों पर सिमट गई थी। भारत की तरफ से सचिन ने 93 और राहुल द्रविड़ ने 79 रनों का योगदान दिया था। हालांकि भारत वह मैच मामूली अंतर से 10 रन से हार गया था।

1. सौरव गांगुली:

बंगाल टाइगर नाम से मशहूर सौरव गांगुली इस सूचि में नंबर एक पर हैं। गांगुली ने सबसे जल्दी नौ हजार रन पूरे किए थे। गांगुली ने यह मुकाम दुनिया की सबसे खतरनाक टीम ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ हासिल किया था। गांगुली ने 236 मैचों की 228 पारियों में इस शिखर को छू लिया था। गांगुली ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अपने करियर में नौ हजार रन पूरे किए थे। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले गए उस मुकाबले की बात करें तो ऑस्ट्रेलिया ने पहले बल्लेबाजी करते हुए पचास ओवर में 288 रन बनाए थे। जवाब में सौरव गांगुली के 82 और सचिन तेंदुलकर के 63 रनों की बदौलत भारत ने 270 रन बनाए थे और मैच 19 रनों से हार गया था।