Al Jazeera investigation claims, England, Australia and Pakistan cricketers involved in spot-fixing

इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल की नजर में आए एक मैच फिक्सर ने पाकिस्तान, इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ियों के स्पॉट फिक्सिंग में शामिल होने का दावा किया है। रविवार को अल जजीरा के एक डॉक्यूमेंट्री में कई इंटरनेशनल मैच के फिक्स होने की बात कही गई है।

अल-जजीरा ने क्रिकेट में स्पॉट फिक्सिंग को लेकर अपनी दूसरी डॉक्यूमेंट्री जारी कर दी है, जिसमें उसने 2011 से 2012 के बीच तकरीबन 15 अंतर्राष्ट्रीय मैचों के फिक्स होने की बात कही है। इसी बीच, अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने चैनल से सबूत साझा करने अपील की है।

अल-जजीरा ने अपनी डॉक्यूमेंट्री में अनील मुनावर नाम के शख्स का जिक्र किया है जो डी कंपनी के लिए काम करता है। चैनल के मुताबिक यह शख्स भारत के एक शख्स को फिक्स हुए मैचों की जानकारी दे रहा है।

चैनल ने 2011-12 के बीच जिन 15 मैचों का जिक्र किया है उसमें से सात मैच इंग्लैंड के और पांच मैच ऑस्ट्रेलिया के हैं। वहीं, ईसीबी ने अल-जजीरा की जानकारी को सही नहीं बताया है, लेकिन कहा है कि उसने इन आरोपों की जांच की और अपने खिलाड़ियों के खिलाफ उसे एक भी सबूत नहीं मिला।

‘द मुनव्वर फाइल्स’ में फिक्सिंग का दावा

‘क्रिकेट मैच फिक्सर्स: द मुनव्वर फाइल्स’ के नाम से जारी डॉक्यूमेंट्री में फिक्सिंग के दावे किए गए हैं। इसमें इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया और पाकिस्तान के खिलाड़ियों के शामिल होने की बात कही जा रही है।

आईसीसी कराएगी जांच

डॉक्यूमेंट्री के सामने आने के बाद आईसीसी ने इसे गंभीरता से लिया है। आईसीसी ऐंटी करप्शन यूनिट के जनरल मैनेजर एलेक्स मार्शल का कहना था क्रिकेट की यह वैश्विक संस्था मामले की पूरी जांच करेगी। मार्शल ने कहा, ‘इस डॉक्यूमेंट्री के कॉन्टेंट को हम एक बार फिर से देखेंगे। जो भी आरोप हैं उसकी जांच की जाएगी। पहले के मुकाबले अब हमारे पास खेल से भ्रष्टाचार को दूर करने के लिए ज्यादा संसाधन मौजूद हैं।’