Anurag Thakur’s secretary writes letter to BCCI Lokpal on illegal dismissal
अनुराग ठाकुर © AFP

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के पूर्व अध्यक्ष अनुराग ठाकुर के कार्यकारी सहायक कृष्णा पोपले ने बोर्ड के लोकपाल डी.के. जैन को प्रशासकों की समिति (सीओए) द्वारा की गई अपनी बर्खास्तगी के मामले को देखने के लिए पत्र लिखा है।

कृष्णा ने जो पत्र लिखा है उसकी एक प्रति आईएएनएस के पास है। इसमें कृष्णा ने सीओए द्वारा बिना नोटिस के हटाए जाने पर अपनी शिकायत दर्ज कराई है।

पत्र में लिखा है, “4/03/2015 को मेरी नियुक्ति कार्यकारी सहायक के पद पर हुई थी और मुझे उस समय के बोर्ड के अध्यक्ष के कार्यालय में नियुक्त किया गया था। मैंने 5/03/2015 को अपना कार्यभार संभाला था, लेकिन 6/02/2017 को सीओए ने एक पत्र लिखकर मुझे बर्खास्त कर दिया लेकिन इससे पहले मुझे किसी तरह का नोटिस नहीं दिया गया।”

मेरी गेंदबाजी 60 हो तो धोनी उसे 100 फीसदी बना देते हैं- कुलदीप

उन्होंने लिखा, “मैं आपको अवगत कराना चाहता हूं कि कर्मचारी को बर्खास्त करने की कुछ शर्ते और नियम होते हैं लेकिन मैं इनमें से किसी के अंतर्गत नहीं आता हूं। बावजूद इसके मुझे बिना किसी कारण के बर्खास्त किया गया। इसलिए मेरी बर्खास्तगी पूरी तरह से गलत है। मैं आपसे अपील करता हूं कि इस मामले को ध्यानपूर्वक देखा जाए और जल्दी से जल्दी मुझे बहाल किया जाए।”