BCCI never Notice Players like Prithvi Shaw, Sarfaraz Khan or Shahrukh Khan, fans trolled bcci
Twitter

पृथ्वी शॉ लंबे समय से टीम इंडिया से बाहर चल रहे हैं लेकिन अब सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में उन्होंने तूफानी शतक ठोक एक बार फिर टीम इंडिया का दरवाजा खटखटाया है। पृथ्वी शॉ ने महज 46 गेंदों पर अपना शतक पूरा किया। इस दौरान उन्होंने 10 चौके और 6 छक्के जड़े जिससे पता चलता है कि उन्होंने 100 में से 76 रन सिर्फ बाउंड्री से ही बटोरे।

पृथ्वी शॉ ने असम के खिलाफ राजकोट में खेले जा रहे मुंबई के इस तीसरे मुकाबले में पहला विकेट जल्दी गिरने के बाद यशस्वी जायसवाल के साथ मिलकर 114 रनों की बड़ी साझेदारी की। शॉ 18वें ओवर में 134 रन बनाकर आउट हुए जिसमें उन्होंने 9 छक्के और 13 चौके लगाए। इस शानदार शतकीय पारी की बदौलत मुंबई की टीम 20 ओवर में असम के खिलाफ 230 रनों का पहाड़ स्कोर खड़ा करने में कामयाब रही।

शॉ की तूफानी पारी से भारतीय क्रिकेट जगत में कोहराम मच गया है और फैंस मुंबई के युवा कप्तान को टीम इंडिया में शामिल करने की मांग करने लगे हैं। इस दौरान कई लोग BCCI के सिलेक्शन के तरीके पर भी सवाल उठा रहे हैं।

एक यूजर ने लिखा, “पृथ्वी शॉ, सरफराज खान या शाहरुख खान जैसे खिलाड़ियों की पारियों को बीसीसीआई कभी नोटिस नहीं करेगा! उनके पास एक ‘फिक्स्ड’ एजेंडा है। देखें कैसे युवा और अनुभवहीन श्रीलंका ने एशिया कप 2022 में पाकिस्तान और भारत के साथ क्या किया था।”

 

निकम ने ट्वीट किया, “Syed Mushtaq Ali Trophy 2022 में आए हालिया शतकों में से दो गायकवाड़ और शॉ ने लगाए है जो भारत की लिमिटेड ओवर में टीम में जगह पाने के हकदार हैं और यहां तक कि टेस्ट क्रिकेट में पृथ्वी शॉ को मौका दिया जा सकता है। उन्हें रोहित के उत्तराधिकारी के रूप में सलामी बल्लेबाज के रूप में तैयार किया जा सकता है।”

 

प्रतीक नाम के यूजर ने लिखा, “मुझे लगता है कि पृथ्वी शॉ T20 वर्ल्ड कप में रोहित के साथ ओपनिंग के लिए काबिल खिलाड़ी थे। भारत के अन्य सलामी बल्लेबाज अपने आँकड़ों को सुधारने के लिए सेल्फ गेम खेलने की कोशिश करते हैं, न कि टीम के लिए।”