Cameron Bancroft had almost made up his mind to quit cricket for yoga
Cameron Bancroft © Getty Images

बॉल टैंपरिंग मामले में 9 महीने का बैन झेल रहे ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर कैमरन बैनक्रॉफ्ट ने कहा कि इस मामले के बाद से वो पूरी तरह बदल चुके हैं और योग प्रशिक्षक बनने के लिए क्रिकेट छोड़ने की सोच रहे थे।

‘विदेशों में टेस्ट सीरीज जीतने के लिए 6-8 खिलाड़ियों से अच्छे प्रदर्शन की जरूरत’

दक्षिण अफ्रीका में हुए गेंद से छेड़खानी विवाद के बाद सलामी बल्लेबाज बेनक्रोफ्ट पर नौ महीने का बैन लगाया गया था। तत्कालीन कप्तान स्टीवन स्मिथ और उप-कप्तान डेविड वार्नर पर एक साल का बैन लगाया गया। स्मिथ ने कल सिडनी में प्रेस कांफ्रेंस की जबकि बेनक्रोफ्ट ने भी बैन खत्म होने से एक सप्ताह पहले चुप्पी तोड़ी।

उसने खुद को लिखे लंबे पत्र में उस घटना के बाद से अब तक के अपने जज्बाती सफर का जिक्र किया। ये पत्र वेस्ट ऑस्ट्रेलिया अखबार में छपा है। इस पत्र में उन्होंने बताया कि कोच जस्टिन लैंगर और एडम वोजेस का उन पर कितना प्रभाव है। उसने ये भी कहा कि क्रिकेट से दूर रहते हुए योग उसके जीवन का अभिन्न अंग बन गया और उसने योग प्रशिक्षक बनने के लिए खेल छोड़ने का मन बना लिया था।

पर्थ की पिच को लेकर ट्विटर पर भिड़े मिचेल जॉनसन-आकाश चोपड़ा

बैनक्रॉफ्ट ने लिखा, ‘‘शायद क्रिकेट तुम्हारे लिए नहीं है। खुद से पूछो। क्या तुम वापसी करोगे। योग से संतोष मिलता है।’’ हालांकि बैनक्रॉफ्ट ने क्रिकेट में वापसी का फैसला किया है और 30 दिसंबर को पर्थ स्कोचर्स के लिए बिग बैश टी20 लीग का पहला मैच खेलेंगे।