Breaking News

    Pink Ball Test- INDw vs AUSw: बारिश ने रोका मैच, Smriti Mandhana की फिफ्टी की बदौलत भारत मजबूत

    Pink Ball Test- INDw vs AUSw: बारिश ने रोका मैच, Smriti Mandhana की फिफ्टी की बदौलत भारत मजबूत

    INDw vs AUSw- Pink Ball Test: स्मृति मंधाना ने अपने टेस्ट करियर की तीसरी फिफ्टी जमा दी है यहां उनके पास शतक जड़ने का शानदार मौका है.

    Updated: September 30, 2021 1:49 PM IST | Edited By: India.com Staff
    पहली बार पिंक बॉल टेस्ट (Pink Ball Test) खेलने उतरी भारतीय महिला टीम ने ऑस्ट्रेलिया (INDw vs AUSw) के खिलाफ शानदार शुरुआत की है. भारतीय टीम यहां टॉस हार गई थी, जिसके बाद पहले बैटिंग का निमंत्रण मिला, हालांकि टीम के लिए यह टॉस हारना अब तक सही साबित हुआ है और उसने 39.3 ओवर का खेल पूरा होने तक एक विकेट के नुकसान पर 114 रन जोड़ लिए हैं. अनुभवी ओपनिंग बल्लेबाज (Smriti Mandhana) ने अपने टेस्ट करियर की तीसरी हाफ सेंचुरी यहां जड़ दी है. बारिश द्वारा खेल रोके जाने तक वह 70 रन बनाकर नाबाद थीं. दूसरे छोर पर (Poonam Raut) पूनम राउत (8*) रन बनाकर नाबाद हैं. इससे पहले भारत के लिए स्मृति मंधाना के साथ युवा बल्लेबाज (Shafali Verma) शैफाली वर्मा (31) उतरी थीं. उन्हें ऑस्ट्रेलिया फील्डरों ने भरपूर साथ दिया और 31 रन की इस पारी में उन्हें तीन बार जीवनदान मिला. इसके बावजूद वह इस मौके का फायदा नहीं उठा पाईं और 64 गेंदों में 4 चौकों की मदद से 31 रन बनाने के बाद सोफी मोलिनेक्स (Sophie Molineux) का शिकार बनीं. इस तरह भारत ने ओपनिंग विकेट के लिए 93 रन जोड़े दूसरी ओर स्मृति मंधाना बेहतरीन अंदाज में भारतीय पारी को आगे बढ़ाती दिख रही हैं. उन्होंने अभी तक 129 गेंदों का सामना किया है और वह 14 चौके जड़ चुकी हैं. उनका खेल बेहद आकर्षक प्रतीत हो रहा है. उन्होंने ऑफ साइड पर कई दर्शनीय चौके जमाए. यह उनके टेस्ट करियर की तीसरी हाफ सेंचुरी है. हालांकि मधाना ने अभी तक अपना टेस्ट शतक नहीं जड़ा है और अब इस टेस्ट में उनके पास पहला शतक जड़ने का शानदार मौका है. https://twitter.com/ICC/status/1443480561474064385?s=20 शैफाली पहले सत्र यानी डिनर ब्रेक से कुछ पल पहले ही आउट हुई थीं. इससे पहले स्लिप में मैग लानिंग ने उनका कैच छोड़ा, जबकि बाद में अन्नाबेल सदरलैंड ने मिडऑन पर एक कैच टपकाया. इसके अलावा उन्हें तीसरे मौके पर भी एक जीवनदान मिला था. शैफाली भले यहां 31 रन की पारी खेलकर आउट हो गईं. लेकिन उन्होंने यहां ऑस्ट्रेलियाई टीम को अपने स्वभाव के विपरीत खेलकर चकमा जरूर दिया. आमतौर पर आक्रामक खेलने वाली शेफाली ने मंधाना के सहायक की भूमिका निभाई. मंधाना ने अपने पहले 50 रन काफी तेजी से बनाए. उन्होंने 51 गेंदों में अपनी फिफ्टी पूरी की. हालांकि इसके बाद उनके खेल में थोड़ा ठहराव आया और उनकी रन गति कुछ धीमी हो गई. इस दौरान पहला विकेट गिरने के बाद ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों ने भी थोड़ी कसी हुई गेंदबाजी, जिसे मंधाना ने भरपूर सम्मान देते हुए खेले. फिफ्टी जड़ने के बाद उन्होंने अगले 19 रन 78 गेंदों का सामना कर बनाए हैं.
    Advertisement