David Gower urgs rest of world cricket to follow West Indies in demonstrating a “spirit of co-operation”
वेस्टइंडीज क्रिकेट टीम © Getty Images (File Photo)

पूर्व क्रिकेटर डेविड गॉवर का कहना है कि कोरोना वायरस के प्रभाव बीच क्रिकेट की वापसी कराने के लिए बाकी देश भी वेस्टइंडीज की तरह सहयोग की भावना दिखाएं। बता दें कि वेस्टइंडीज टीम जुलाई में तीन मैचों की टेस्ट सीरीज के लिए इंग्लैंड का दौरा करने के लिए तैयार हो गया है। ये सीरीज लॉकडाउन की वजह से क्रिकेट पर लगे ब्रेक के बाद की पहली अंतरराष्ट्रीय सीरीज होगी।

वेस्टइंडीज के बाद इग्लैंड की योजना ऑस्ट्रेलिया, पाकिस्तान और आयरलैंड की मेजबानी करने की है। हालांकि इसके लिए विपक्षी टीम के क्रिकेट बोर्ड्स की अनुमति भी जरूरी है।

इस पर पूर्व इंग्लिश कप्तान गॉवर ने कहा, “वेस्टइंडीज ने हम पर बड़ा एहसान किया है। ये एक अलग स्थिति है, जिसमें हम पर काफी दबाव है। खेलों के आयोजन से काफी राहत मिलेगी क्योंकि दोबारा शुरुआत करना सबसे जरूरी है।”

विराट कोहली नहीं बल्कि इस बल्‍लेबाज के नेतृत्‍व में बेस्‍ट देने का दावा कर रहे हैं हार्दिक पांड्या

उन्होंने कहा, “देखिए, पिछला साल विश्व कप जीत और रोमांचक एशेज सीरीज की वजह से शानदार रहा। लेकिन किसी भी खेल के साथ परेशानी ये है कि लोगों को उसके प्रति उत्साह थोड़े समय के लिए ही रहता है। फुटबॉल को छोड़कर, बाकी खेल अगर आप लाइव नहीं देखते हैं तो आपको कल के अखबार या अगले पांच मिनट के क्लिप को टेलीविजन या रेडियो पर पिन करने के लिए कुछ भी नहीं मिला है। इस साल के नुकसान की भरपाई होगी और आय का कोई भी नुकसान टेस्ट टीम से लेकर काउंटियों तक पूरे खेल को प्रभावित करेगा।”

गॉवर ने कहा कि खेल महामारी से पहले कई और मुद्दों के साथ जूझ रहा था। उन्होंने कहा, “कोविड -19 से पहले क्रिकेट में बहुत सारी समस्याएं थीं, खास तौर पर भारत, ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बाहर के देशों में, वित्तीय समस्याएं और संरचना से जुड़ी परेशानियां हैं।”

उन्होंने आगे कहा, “ये परेशानियां अपने आप नहीं जाएंगी लेकिन अगर इससे सहयोग की भावना दिखाने में मदद मिलती है तो ये बहुत अच्छा होगा।”