ऑस्ट्रेलियाई टीम © IANS
ऑस्ट्रेलियाई टीम © IANS

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया और खिलाड़ियों के बीच कॉन्ट्रैक्ट के मामले ने अब तूल पकड़ लिया है। पहली बार इस मुद्दे पर डेविड वॉर्नर ने अपनी राय रखी है और उन्होंने सीधे-सीधे क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया को कड़ी चेतावनी देते हुए कहा है कि अगर ऑस्ट्रेलिया क्रिकेटर्स संघ और क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के बीच कॉनट्रैक्ट विवाद जल्द नहीं सुलझा तो फिर सभी खिलाड़ी विदेशी टी-20 लीग में खेलने जाएंगे। वॉर्नर ने कहा,’हालात जल्द नही सुधरे तो एशेज में खेलने के लिए ऑस्ट्रेलियाई टीम उतरेगी ही नहीं। मैं चाहता हूं जल्द से जल्द ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट संघ और क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के बीच सहमति बने। ये मामला पूरी तरह क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के हाथ में है। ‘

डेविड वॉर्नर ने आगे कहा,’अगर क्रिकेटर्स को कॉन्ट्रैक्ट नहीं मिला तो हम कहीं और खेलने तो जाएंगे ही क्योंकि हमें यहां पैसा ही नहीं मिलेगा। कुछ क्रिकेटर कैरेबियन प्रीमियर लीग और कुछ इंग्लैंड में होने वाली टी-20 लीग में भी हिस्सा लेंगे। हम सभी अपने देश के लिए ज्यादा से ज्यादा क्रिकेट खेलना चाहते हैं लेकिन अगर हमारे पास नौकरी ही नहीं होगी तो हम कहीं ना कहीं तो क्रिकेट खेलेंगे ही।’ ये भी पढ़ें-आईपीएल में ना खेलने के लिए ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों को दिया गया लालच

आपक बता दें क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने अपने अनुबंधित खिलाड़ियों को धमकी दी है कि अगर वे संचालन संस्था के वेतन प्रस्ताव को स्वीकार नहीं करते हैं तो उन्हें 30 जून के बाद भुगतान नहीं किया जाएगा। सीए और खिलाड़ियों के बीच तनाव उस समय और बढ़ गया जब मुख्य कार्यकारी अधिकारी जेम्स सदरलैंड ने कड़े ईमेल में उन्हें कहा कि इस पेशकश को स्वीकार करें। फेयरफेक्स मीडिया की खबर के अनुसार सदरलैंड ने ईमेल ऑस्ट्रेलिया क्रिकेटर्स संघ (ACA) प्रमुख एलिस्टेयर निकोलसन को भेजा जिन्होंने इसे पूरे ऑस्ट्रेलिया के क्रिकेटरों के पास भेज दिया।