Don’t like rank turners, love bowling on flat wickets with a bit of bounce: yuzvendra chahal
Yuzvendra Chahal@IANS

इंग्लैंड में खेले जा रहे आईसीसी विश्व कप शुरू होने से पहले इस बात की काफी चर्चा की गई थी कि की विकेट कैसी होगी। विश्व कप शुरू होने के बाद पिछले कुछ मैचों में देखा गया है कि विकेट ज्यादा टर्न नहीं हो रही है।

भारतीय लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल ने साफ कर दिया है कि विकेट चाहे कैसी भी हो, इससे ज्यादा उन्हें खुद की क्षमता पर भरोसा है। चहल का कहना है, “विश्व कप से पहले इंग्लैंड-पाकिस्तान सीरीज के दौरान वहां पर स्पिनर्स के लिए थोड़ी सी टर्न थी। लेकिन अब सबकुछ वहां की परिस्थितियों पर निर्भर करता है।”

पढ़ें:- मैं टीम की जीत के लिए कुछ भी करने को तैयार हूं: कोहली

उन्होंने कहा, “मैं सपाट विकेट पर गेंदबाजी करना पसंद करता हूं, जिसमें थोड़ी उछाल होती है। मैं ऐसी विकेट में विश्वास नहीं करता, जिससे थोड़ी मदद मिलने की संभावना हो।”

विश्व कप में भारत को खिताब के दावेदार के रूप में देखा जा रहा है। चहल के अनुसार भारतीय टीम दावेदार से ज्यादा ‘मजबूत’ है।

चहल ने कहा, “यह एक बड़ा टूर्नामेंट है। अगर आप देखे तों जिस तरह से हमने पिछले कुछ समय से क्रिकेट खेला है, उसे देखते हुए हम यह कह सकते हैं कि यह एक मजबूत टीम है। ईमानदार से कहूं तो भारत के अलावा कुछ अन्य टीमें भी अच्छी है, लेकिन यह सबकुछ इस चीज पर निर्भर करता है कि उस दिन हम कैसा खेलते हैं।”

पढ़ें:- विराट को चहल और मुझपर हमेशा से ही भरोसा है: कुलदीप यादव

भारतीय स्पिनर ने कहा कि विदेशी धरती पर अच्छा प्रदर्शन करने के बाद से ही उन्होंने विश्व कप में भारतीय टीम के लिए खेलने का सपना देखना शुरू कर दिया था। चहल ने कहा, “शानदार प्रदर्शन के बाद मैं विश्व कप में खेलने के बारे में सोचने लगा। अब जाकर मुझे यह अहसास हुआ है कि मेरा सपना पूरा हो गया। घर के बाहर अच्छा प्रदर्शन करने से मेरा आत्मविश्वास बढ़ा है।”