भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (Mahender Singh Dhoni) के इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद अब ये चर्चा जोरों पर है कि टीम इंडिया में उनकी जगह कौन लेगा. इस बारे में भारत के 3 पूर्व विकेटकीपर कहते हैं कि माही के इस खेल से अलविदा कहने के बाद युवा विकेटकीपर रिषभ पंत (Rishabh Pant) से दबाव थोड़ा कम होगा लेकिन उनका मानना है कि निकट भविष्य में लोकेश राहुल (Lokesh Rahul) धोनी के सर्वश्रेष्ठ विकल्प हैं.

पूर्व विकेटकीपर नयन मोंगिया (Nayan Mongia) , एमएसके प्रसाद (MSK Prasad) और दीप दासगुप्ता (Deep DasGupta) ने इस बात पर सहमति जताई कि वर्तमान में टीम में इस जगह के लिए राहुल और पंत के बीच मुकाबला होगा जिसमें तीसरे स्थान पर संजू सैमसन हैं.

’50 ओवरों के प्रारूप के लिए केएल राहुल मेरी पहली पसंद होंगे’

भारत के सर्वश्रेष्ठ विकेटकीपरों में से एक रहे मोंगिया ने पीटीआई-भाषा से कहा, ‘राहुल, मुझे लगता है कि 50 ओवरों के प्रारूप के लिए वह मेरी पहली पसंद होंगे. मैंने केएल (राहुल) के बारे में जो कुछ भी देखा है, वह विकेट के पीछे बुरा नहीं है. जब से उन्होंने विकेटकीपींग करना शुरू किया है, उनकी बल्लेबाजी में सुधार हो रहा है.’

उन्होंने कहा, ‘मौजूदा फॉर्म को देखे तो राहुल मेरी पहली पसंद होंगे, उसके बाद आप रिषभ पंत को मौके दे सकते हैं.’दीप दासगुप्ता भी मोंगिया की बातों से सहमत दिखे, उन्होंने माना कि राहुल और पंत को इस्तेमाल करने के मामले में टीम ‘प्रारूप के मुताबिक लचीलापन’अपना सकती है.

उन्होंने कहा, ‘देखिए, टी20 में, मेरा मानना ​​है कि दोनों अंतिम 11 में खेल सकते हैं. लेकिन एक विकल्प को चुनना होगा तो मौजूदा समय के लिए टी20 में मैं राहुल को चुनुंगा. हालांकि, 50 ओवर के प्रारूप में, टीम प्रबंधन और चयनकर्ता उनसे बात करके यह पता कर सकते है कि वह 2023 विश्व कप तक लंबे समय तक इसे जारी रखने के साथ नंबर पांच पर बल्लेबाजी करना चाहते है जो मध्य क्रम में एक महत्वपूर्ण स्थान है.’

‘तीसरे विकल्प के रूप में संजू हैं’ 

कुछ समय पहले तक राष्ट्रीय चयन समिति के अध्यक्ष रहे प्रसाद ने भी माना कि राहुल की स्थिति रिषभ से बेहतर है. उन्होंने कहा, ‘अगर आप भारत की पिछली न्यूजीलैंड श्रृंखला को देखे तो राहुल मेरी पहली पसंद होंगे और तीसरे विकल्प के रूप में संजू हैं . उन्होंने अच्छा किया और परिस्थितियों के अनुसार टीम को अतिरिक्त बल्लेबाज या गेंदबाज को खेलने का लचीलापन दिया है. लेकिन हां, पांच महीने बाद हर कोई नयी शुरूआत करेगा और आईपीएल (इंडियन प्रीमियर लीग) फॉर्म महत्वपूर्ण होगा.’

‘धोनी के संन्यास की घोषणा से पंत को राहत मिली होगी’

प्रसाद और दासगुप्ता ने कहा कि धोनी के संन्यास की घोषणा से पंत को राहत मिली होगी. दासगुप्ता ने कहा, ‘पंत की तुलना बार-बार धोनी से होती थी, जिससे इस युवा खिलाड़ी पर काफी दबाव पड़ा. दबाव में वह बेहतर प्रदर्शन नहीं कर सके. अब वह खुल कर खेल सकते है. उन्हें खिलाड़ी के तौर पर परिपक्क होने की जरूरत है.’

प्रसाद ने कहा कि ‘रिषभ (पंत) अब जूनियर माही की जगह रिषभ ही रहेंगे. भारतीय क्रिकेट ने पिछले कुछ वर्षों में पंत में निवेश किया है. हमने इन वर्षों में पंत का सबसे अच्छा और सबसे खराब देखा है. वह ऐसा खिलाड़ी है जो लंबे समय तक भारतीय क्रिकेट की सेवा करेगा, बशर्ते उसे ठीक से तैयार किया जाए.’