पूर्व कीवी कप्तान स्टीफेन फ्लैंमिंग ने कहा ज्यादा क्रिकेट ऊबाउ हो जाता है। © IANS
पूर्व कीवी कप्तान स्टीफेन फ्लैंमिंग ने कहा ज्यादा क्रिकेट ऊबाउ हो जाता है। © IANS

न्यूजीलैंड को हराने के बाद से ही भारतीय टीम की हर तरफ प्रशंसा हो रही है। कई दिग्गजों ने विराट कोहली की कप्तानी और रविचंद्रन अश्विन की गेंदबाजी की तारीफ की है अब इस सूची में एक और नाम जुड़ गया है न्यूजीलैंड के ही पूर्व कप्तान स्टीफेन फ्लेमिंग का। आईएएनएस से बात करते हुए पूर्व कीवी खिलाड़ी ने कहा ” वह (विराट कोहली) एक अच्छा कप्तान है, उसकी कप्तानी और बल्लेबाजी का तरीका भारतीय टीम की अगला पीढ़ी को मजबूत बना रहा है। वह आक्रामक और होशियार है साथ ही काफी अच्छा और फिट दिखता है। मेरा मानना है कि वह भारतीय युवाओं के लिए रोल मॉडल की तरह है।” साथ ही भारतीय टीम के बारें में भी फ्लेमिंग ने अपने विचार रखे, उन्होंने कहा ” मुझे लगता है कि अश्विन, मुरली और रहाणे कोहली के साथ चल रहे हैं और अपनी फिटनेस पर ध्यान दे रहे हैं। यह सब जिस तरह के व्यवहार को दिखाता है उस पर सभी को गर्व होगा।” यहां पढ़ेंभारत बनाम इंग्लैंड टेस्ट के तीसरे दिन का लाइव स्कोर 

फ्लेमिंग भारत में न्यूजीलैंड के टूरिज्म को बढ़ावा देने के लिए क्राइस्ट चर्च में आयोजित एक कार्यक्रम में आए थे। वहां पर न्यूजीलैंड के एक और धमाकेदार बल्लेबाज ब्रैंडन मैकुलम पहले से मौजूद थे। साथ ही बॉलीवुड अभिनेता सिद्धार्थ मलहोत्रा भी वहां उपस्थित थे जो कि भारत में न्यूजीलैंड टूरिज्म के ब्रांड अम्बेसेडर हैं। क्रिकेट के बढ़ते वैश्विक प्रभाव पर फ्लेमिंग ने कहा कि क्रिकेट का सबसे जरूरी काम है मनोरंजन और अगर आप जरूरत से ज्यादा क्रिकेट देखते हो या खेलते हो तो यह आपको उबाने लगता है। उनका मानना है कि क्रिकेट डेली सोप की तरह होता है, आप जितना ज्यादा देखेंगे उतना ही इससे ऊब जाएंगे। उन्होंने कहा “खिलाड़ी खेल से ही प्रोत्साहित होते हैं इसलिए उनका और खेलने के लिए न कहना असंभव है। वह चाहे भारतीय खिलाड़ी हो या न्यूजीलैंड का खिलाड़ी, सभी को खेलना है और पैसा कमाना है। इसलिए यह सब चलता रहता है। इसका कोई भी उपाय नहीं है और यह उस स्तर पर पहुंच चुका है जब क्रिकेट समुदाय को उठकर कहना होगा कि ‘अब बस’। हमें संतुलन बनाने पर ध्यान देना चाहिए। यह भी पढ़ें: भारत बनाम इंग्लैंड पहले टेस्ट के तीसरे दिन की लंच रिपोर्ट

फ्लैमिंग ने न्यूजीलैंड के भारत में 3-0 से टेस्ट सीरीज हारने पर कहा “भारत इस समय एक अच्छी टीम है और वह सीरीज में काफी अच्छा खेले। हार के कई कारण थे जिनमें से एक यह ही था कि भारत का वातावरण काफी गर्म था। साथ ही भारत हर बार टॉस जीता और कीवी टीम पर दबाव बनाया। मेरा मानना है कि यह साफ देखा जा सकता है कि न्यूजीलैंड टीम का प्रदर्शन काफी खराब रहा।” डीआरएस पर टिप्पणी करते हुए उन्होंने कहा “इससे खेल में एकरूपता आएगी, कुछ खेल इसके साथ खेले गए हैं और कुछ इसके बिना। यह एकदम सही तो नहीं है पर इससे सही फैसलों के बढ़ने की उम्मीद है।