Hanuma Vihari on Covid 19: Never thought it would be so difficult to get patients hospitalized
हनुमा विहारी (AFP Photo)

कोविड-19 की दूसरी लहर से जूझ रहे लोगों की मदद के लिए खेल जगत से जुड़ी कई हस्तियां आगे आई हैं। इन्हीं में से एक है भारतीय टेस्ट टीम के ऑलराउंडर हनुमा विहारी, जो इन दिनों कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों के लिए ऑक्सीजन सिलेंडर और अस्पताल बेड की व्यवस्था में लगे हुए हैं।

विहारी ने कहा कि ये उनके लिए सबसे बड़ी संतुष्टि का काम है लेकिन भारतीय क्रिकेटर ने ये भी माना कि उन्होंने कभी सपने में भी नहीं सोचा था कि अस्पताल में बेड हासिल करना इतना मुश्किल हो जाएगा।

पीटीआई से बातचीत में उन्होंने कहा, ‘मैं खुद की तारीफ नहीं करना चाहता हूं। मैं ये काम जमीनी स्तर पर लोगों की मदद के लिए कर रहा हूं जिन्हें वास्तव में इस मुश्किल समय में हरसंभव मदद की जरूरत है। ये केवल शुरुआत है।”

पूर्व इंग्लिश बल्लेबाज इयान बेल ने याद किया 2011 का ‘रन आउट विवाद’; कहा- मुझे ऐसा नहीं करना चाहिए था

बता दें कि विहारी इंग्लि​श काउंटी वारविकशर की तरफ से खेलने के लिए अप्रैल के शुरू में इंग्लैंड रवाना हो गये थे। हालांकि अपने ट्विटर हैंडल की मदद से उन्होंने 100 स्वयंसेवकों की टीम तैयार की है। इनमें आंध्र प्रदेश, तेलंगाना और कर्नाटक के उनके दोस्त शामिल हैं। विहारी तीन जून को टीम इंडिया के इंग्लैंड पहुंचने पर स्क्वाड से जुड़ेंगे।

उन्होंने कहा, “दूसरी लहर इतनी मजबूत है कि अस्पताल में बेड पाना बेहद मुश्किल हो रहा है और ये अकल्पनीय है। इसलिए मैं ज्यादा से ज्यादा लोगों की मदद करने के लिए अपने फालोअर्स का स्वयंसेवक के रूप में उपयोग कर रहा हूं। मेरा लक्ष्य विशेषकर उन लोगों तक पहुंचना है जो कि प्लाज्मा, बिस्तर या आवश्यक दवाईयों की व्यवस्था नहीं कर पा रहे हैं। लेकिन यह पर्याप्त नहीं है। मैं भविष्य में अधिक सेवाएं करना चाहता हूं।”

विहारी ने कहा, ‘मैंने खुद की टीम तैयार की है। ये अच्छे इरादों से तैयार की गई है। लोग इससे प्रेरित हो रहे हैं और मेरी मदद कर रहे हैं। मेरे साथ एक वाट्सएप ग्रुप में स्वयंसेवक के रूप में लगभग 100 लोग जुड़े हैं और उनकी कड़ी मेहनत से हम कुछ लोगों की मदद कर पा रहे हैं। इस ग्रुप में मेरी पत्नी, बहन और आंध्र के कुछ साथी खिलाड़ी भी शामिल हैं।”

आगामी एशेज में इंग्लैंड के लिए तुरुप का इक्का साबित होंगे Jofra Archer: Steve Waugh

भारत के आगामी इंग्लैंड दौरे के बारे में विहारी ने कहा कि यदि उन्हें पांच टेस्ट मैचों की सीरीज के दौरान किसी समय पारी की शुरुआत करने के लिए कहा जाता है तो वो इसके लिए तैयार रहेंगे।

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सिडनी टेस्ट में चोटिल होने के बावजूद साढ़े तीन घंटे तक बल्लेबाजी करने वाले विहारी ने कहा, “टीम मुझे जो भी भूमिका सौंपेगी मैं उसे निभाने के लिये तैयार रहूंगा। मैंने अपने क​रियर में अधिकतर समय शीर्ष क्रम में बल्लेबाजी की है इसलिए मैं इस चुनौती से वाकिफ हूं।”