I have not been given an opportunity to represent Pakistan even though I have served my punishment : Salman Butt
Salman-Butt © Getty Images

पाकिस्‍तान के दागी क्रिकेटर सलमान बट्ट  का कहना है कि सजा भुगतने के बाद भी चयनकर्ता उन्‍हेें अब क्‍योंं नजरअंदाज कर रहे हैं। इस पूर्व पाक कप्‍तान को स्‍पॉट फिक्सिंग के चलते 5 साल के लिए इंटरनेशनल क्रिकेट से बैन कर दिया गया था।

पाकिस्‍तान के इस पूर्व ओपनर के उपर से 5 साल का बैन 1 सितंबर, 2015 को खत्‍म हो गया था। जिसके बाद बट्ट ने घरेलू क्रिकेट में वापसी की। 33 साल के बट्ट ने चयनकार्ताओं को आड़े हाथों लिया है जिन्‍होंने टी20 घरेलू टूर्नामेंट में शानदार प्रदर्शन करने के बावजूद उन्‍हें पाकिस्‍तान सुपर लीग (पीएसएल) में नजरअंदाज किया।

समाचार पत्र एक्‍सप्रेस ट्रिब्‍यून के मुताबिक सलमान बट्ट ने कहा, ‘ मैं हाल में घरेलू टी20 टूर्नामेंट में सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्‍लेबाजों की लिस्‍ट में दूसरे नंबर पर रहा। लेकिन मुझे पीएसएल फ्रेंचाइजी ने नजरअंदाज कर दिया। सजा भुगतने और रिहैबिलिटेशन प्रक्रिया से गुजरने के बाद भी मुझे पाकिस्‍तान के लिए खेलने का मौका नहीं दिया जा रहा है।’

बकौल सलमान बट्ट, ‘ मैं पीएसएल स्‍पॉट फिक्सिंग में संलिप्‍त नहीं था। दूसरे की गलती के चलते मैंने कष्‍ट झेले जो निराशाजनक है। चयन समिति मुझे लगातार नजरअंदाज कर रही है। चीफ सेलेक्‍टर इंजमाम उल हक ने मुझसे वादा किया है कि वो मुझे पाकिस्‍तान-ए टीम में मौका देंगे। लेकिन अब तक ये कार्यान्वित नहीं हुआ है।’

लाहौर में जन्‍मे सलमान इस समय कायदे-आजम ट्रॉफी में खेल रहे हैं। इस टूर्नामेंट में वो वाटर एंड पॉवर डेवलपमेंट ऑथोरिटी (डब्‍ल्‍यूपीडीए) टीम की ओर से खेल रहे हैं। वह अपनी टीम की कप्‍तानी कर रहे हैं।