शोएब मलिक ने 72 रन बनाए © AFP (File Photos)
शोएब मलिक ने 72 रन बनाए © AFP (File Photos)

आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी 2017 के दूसरे अभ्यास मैच में पाकिस्तान ने एक रोमांचक मुकाबले में बांग्लादेश को 2 विकेट से हरा दिया। पहले बल्लेबाजी करते हुए बांग्लादेश ने तमीम इकबाल के शतक और इमरुल काएस के अर्धशतक की बदौलत 50 ओवरों में 9 विकेट पर 341 रन बनाए थे। जवाब में निर्धारित लक्ष्य पाकिस्तान ने 49.3 ओवरों में 8 विकेट खोकर हासिल कर लिया। लक्ष्य का पीछा कर रही पाकिस्तान को एक समय अंतिम सात ओवरों में 90 रन जीतने के लिए बनाने थे और उसके 8 विकेट गिर चुके थे। ऐसे में लग रहा था कि पाकिस्तान इस मैच को बड़ी आसानी से हार जाएगा।

ऐसे में कम पहचान वाले गेंदबाजी ऑलराउंडर फहीम अशरफ ने मोर्चा संभाला। अशरफ ने आते ही गेंदबाजों की बखिया उधेड़ दी और चौकों- छक्कों की बरसात कर दी। इस दौरन उन्होने मेहेंदी हसन के दो ओवरों से 35 रन बटोरे। इसके अलावा मशरफे मुर्तजा के ओवर की तीन गेंदों में 13 रन बटोरते हुए हारी हुई बाजी पलट दी और पाकिस्तान को मैच जितवा दिया। अशरफ अंत तक 30 गेंदों में 4 चौके और 4 छक्कों की मदद से 64 रनों पर नाबाद रहे। अशरफ का साथ दूसरे छोर से हसन अली ने निभाया और वह 14 गेंदों में 23 रन बनाकर नाबाद रहे। दोनों ने नौंवे विकेट के लिए नाबाद 42 गेंदों में 93 रन बनाए।

[फुल क्रिकेट स्कोरकार्ड: बांग्लादेश बनाम पाकिस्तान, वॉर्म अप मैच, बर्मिंघम में]

इससे पहले बांग्लादेश टीम ने टॉस जीता और पहले बल्लेबाजी करने का निर्णय लिया। बांग्लादेश टीम ने शुरुआत तो तूफानी की थी लेकिन सौम्य सरकार (19) जल्दी ही जुनैद खान का शिकार बन गए। इसके बाद तमीम इकबाल और इमरुल काएस ने जबरदस्त बल्लेबाजी का मुजाहिरा पेश किया और दूसरे विकेट के लिए 122 गेंदों में 142 रन जोड़े। इस दौरान इमरुल काएस 62 गेंदों में 61 रन बनाकर शदाब खान का शिकार हुए। दूसरे विकेट के गिरने के दौरान बांग्लादेश के का स्कोर 169/2 था। इसके बावजूद तमीम ने मैदान के चारों ओर स्ट्रोक खेले और पाकिस्तानी गेंदबाजी आक्रमण की बखिया उधेड़ दी। और अंततः शतक पूरा करने के थोड़ी देर बाद 93 गेंदों में 102 के साथ आउट हो गए। इस दौरान उन्होंने 9 चौके और 4 छक्के लगाए। बाद के ओवरों में मुशिफिकुर रहीम 36 गेंदों में 46, महमदुल्ला 24 गेंदों में 29 और हुसैन सैकेत ने 15 गेंदों में 26 रन ठोंकते हुए बांग्लादेश के स्कोर को 9 विकेट पर 341 रनों पर लाकर खड़ा किया। इस तरह बांग्लादेश ने पाकिस्तान के सामने 342 रनों का लक्ष्य रखा।

पाकिस्तान की ओर से जुनैद खान ने 73 रन देकर सर्वाधिक चार, वहीं हसन अली और शदाब खान ने 2-2 विकेट लिए। फहीम अशरफ ने 6 ओवरों में 35 रन देकर कोई विकेट नहीं लिया।

जवाब में बल्लेबाजी करने उतरी पाकिस्तान टीम की शुरुआत खराब रही और अजहर अली 8 रन बनाकर आउट हो गए। इसके पहले कि पारी संभलती बाबर आजम भी 1 रन बनाकर चलते बने और इस तरह पाकिस्तान के 19 रन पर दो विकेट गिर गए। ऐसी विपरीत परिस्थिति में अहमद शहजाद और मोहम्मद हफीज ने तीसरे विकेट के लिए 55 गेंदों में 59 रन जोड़े। इसी बीच शहजाद 40 गेंदों में 44 रन बनाकर आउट हो गए। इसके बाद शोएब मलिक और मोहम्मद हफीज ने चौथे विकेट के लिए 79 रनों की साझेदारी की और टीम को ढाढ़स बंधाया कि वे इतना बड़ा लक्ष्य हासिल कर सकते हैं।

लेकिन फिर से जलजला आया और तीन ओवरों के भीतर हफीज (49) और कप्तान सरफराज अहमद (5) आउट हो गए। इस तरह पाकिस्तान के 168 रनों पर पांच विकेट गिर गए। ऐसी विपरीत परिस्थिति में मलिक ने इमाद वसीम के साथ छठवें विकेट के लिए 59 रन जोड़े। शोएब अंततः 66 गेंदों में 72 रन बनाकर आउट हुए। उन्होंने अपने पारी में 6 चौके और दो छक्के लगाए। शोएब के आउट होने के थोड़ी देर बाद इमाद वसीम(45) आउट हो गए और इस तरह पाकिस्तान के 249 पर 8 विकेट 42.4 ओवरों में गिर गए।

पाकिस्तान को एक समय अंतिम सात ओवरों में 90 रन जीतने के लिए बनाने थे और उनके 8 विकेट गिर चुके थे। ऐसे में लग रहा था कि पाकिस्तान इस मैच को बड़ी आसानी से हार जाएगा। ऐसे में कम पहचान वाले गेंदबाजी ऑलराउंडर फहीम अशरफ ने मोर्चा संभाला। अशरफ ने आते ही गेंदबाजों की बखिया उधेड़ दी और चौकों- छक्कों की बरसात कर दी। इस दौरान उन्होने मेहेंदी हसन के दो ओवरों से 35 रन बटोरे। इसके अलावा मशरफे मुर्तजा के ओवर की तीन गेंदों में 13 रन बटोरते हुए हारी हुई बाजी पलट दी और पाकिस्तान को मैच जितवा दिया। अशरफ अंत तक 30 गेंदों में 4 चौके और 4 छक्कों की मदद से 64 रनों पर नाबाद रहे। अशरफ का साथ दूसरे छोर से हसन अली ने निभाया और वह 14 गेंदों में 23 रन बनाकर नाबाद रहे। दोनों ने नौंवे विकेट के लिए नाबाद 42 गेंदों में 93 रन बनाए। बांग्लादेश की ओर से तस्कीन अहमद सबसे महंगे गेंदबाज साबित हुए और उन्होंने 9 ओवरों में 80 रन लुटा दिए।