ICC Womens World T20 2018: Veda Krishnamurthy told me to take DRS, says Smriti Mandhana
Smriti Mandhana © Getty Images

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मैच में भारतीय महिला क्रिकेट टीम का स्टार बल्लबेाज स्मृति मंधाना ने 83 रनों की शानदार पारी खेली। मंधाना ने 55 गेदो पर 9 चौकों और 3 छक्कों की मदद से 83 रन बनाए। उनकी इस पारी और कप्तान हरमनप्रीत कौर (43) के साथ उनकी साझेदारी की बदौलत भारतीय टीम ने ऑस्ट्रेलिया के सामने 168 का लक्ष्य रखा और फिर गेंदबाजों के शानदार प्रदर्शन के दम पर 48 रनों से ये मै जीता।

मंधाना को इस पारी के लिए प्लेयर ऑफ द मैच का खिताब दिया गया लेकिन अगर वेदा कृष्णमूर्ति ना होती तो उनकी ये पारी 62 रन पर ही सिमट जाती। दरअसल भारतीय पारी के दौरान 15वें ओवर में सोफी मॉलिनेक्स की दूसरी गेंद पर अंपायर ने मंधाना को एलबीडबल्यू आउट दे दिया था। मंधाना को भी लगा कि वो आउट ही हैं लेकिन नॉन स्ट्राइकर एंड पर खड़ी वेदा कृष्णमूर्ति ने उन्हें डीआरएस का इस्तेमाल करने की सलाह दी। रीप्ले में साफ दिखा कि गेंद आउटसाइड लेग पिच कर रही है, अंपायर को अपना फैसला बदलना पड़ा और मंधाना ने पारी जारी रखते हुए 83 रन जड़ दिए।

मैच के बाद इस बारे में बात करते हुए मंधाना ने कहा, “जब भी गेंद पैड पर लगती है, पता नहीं क्यों पर मुझे हमेशा ही लगता है कि आउट होगा लेकिन वेदा ने मुझे रिव्यू लेने के लिए कहा। उसकी वजह से हमे 20-30 अतिरिक्त रन मिले।” बता दें कि जब मंधाना को एलबीडबल्यू आउट दिया गया था तो भारत का स्कोर 125/3 था।

मंधाना की शानदार पारी

मंधाना की ये पारी टीम के लिए ही नहीं बल्कि उनके निजी करियर के लिए भी काफी खास रही। आईसीसी महिला टी20 विश्व कप 2018 में मंधाना की ये पहली अर्धशतकीय पारी थी। 83 रनों की इस पारी के दौरान मंधाना ने अपने 1,000 टी20 रन भी पूरे किए, साथ ही ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सबसे बड़ा निजी टी20 स्कोर (महिला क्रिकेट) बनाने का कीर्तिमान अपने नाम किया।