I’m lost for words, I had a lot of confidence: Ashton Turner

ऑस्ट्रेलिया के लिए 43 गेंद पर आतिशी 84 रन की नाबाद पारी खेलकर टीम को बड़ी जीत दिलाने वाले हीरो एश्टन टर्नर के पास जीत के बाद शब्द नहीं थे। मैच जिताउ पारी खेलने के बाद टर्नर को प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया।

पढ़ें: हैंड्सकॉम्‍ब और टर्नर ने ऑस्‍ट्रेलिया को दिलाई यादगार जीत, मोहाली वनडे 4 विकेट से हारा भारत

तूफानी पारी खेलने के बाद टर्नर ने कहा, ”मेरे पास शब्द नहीं हैं। मुझे काफी आत्मविश्वास था। मार्कस स्टोइनिस अपना फिटनेस टेस्ट दे रहे थे उनका अंगूठा टूटा था, मुझे लगा वो आज खेलेंगे और मैं ड्रिंक्स लेकर जाउंगा। मुझे अपने दिमाग को ना खेलने से खेलने वाली स्थिति में लाना पड़ा।”

”मुझे काफी विश्वास था, अगर मुझे मौका मिलता है तो खेलने को तैयार था। ऐसा हर दिन नहीं होता जब हम खेलते हैं। मुझे लगता है भारत ने बहुत अच्छा खेला और यह बेहद ही शानदार मैच था। बल्लेबाजी करने में बहुत मजा आता है, कुछ करीबी मामले रहे और मुझे पता था मैंने बल्ले नहीं लगाया है।”

”मैं काफी भाग्यशाली हूं कि हेडन से मुझे हैदराबाद में कैप मिला। नेट्स में उन्होंने मेरे साथ काफी वक्त बिताया। वह स्पिन के एक शानदार खिलाड़ी और लीजेंड हैं। ऐसा जिसको मैं देखकर बड़ा हुआ। उनसे अच्छी बातें सुनकर काफी अच्छा लगता है। यहां स्पिनर्स के खिलाफ मैंने अपनी तरफ से बेहतरीन कोशिश की।”

पढ़ें: शतक से चूके रोहित शर्मा ने महेंद्र सिंह धोनी को पीछे छोड़ा

ऑस्ट्रेलिया के लिए मैच बनाने वाले पीटर हैंड्सकॉम्ब जिन्होंने वनडे में पहला शतक बनाया। हैंड्सकॉम्ब ने कहा, ‘यह बहुत अच्छी फीलिंग है। मेरा काम था जितनी देर तक हो उतनी देर तक मैच को लेकर जाउं और मेरा आज का शतक तो बहुत ही खास रहा। मैं और ख्वाजा मैदान पर ज्यादा बात नहीं करते। हम एक दूसरे को अपना खेल खेलने देते हैं। हमें काफी जल्दी पता चल गया था कि यह विकेट काफी अच्छा है और हम लक्ष्य का पीछा कर सकते हैं। जैसा पिछले मैच में हुआ, वैसा स्पिनर नहीं है। लिहाजा यह हमारे लिए काफी अच्छा था कि हम अपना स्वभाविक खेल खेल सकते थे।’

‘मैक्सवेल ने काफी अच्छी भूमिका निभाई। यह टीम के लिए खेली गई पारी थी, वह आए और मेरे उपर से प्रेशर हटा दिया। उनका स्ट्राइक रेट 200 के करीब था, यह काफी अहम पारी रही। हमने देखा कि हम (टर्नर) बिग बैश में क्या कर सकते हैं। फिर भी अपने दूसरे ही वनडे में ऐसा कुछ करना, सचमुच बहुत ही स्पेशल है। उनको इससे बहुत आत्मविश्वास मिलेगा, आगे बढ़ने के लिए।’