सुरेश रैना © Getty Images
सुरेश रैना © Getty Images

लखनऊ। दिन-रात के मैच के प्रारूप में खेली जा रही दिलीप ट्रॉफी के फाइनल मैच में पहली पारी में 483 रनों का विशाल स्कोर खड़ा करने वाली इंडिया रेड दूसरी पारी में इंडिया ब्लू के सामने लड़खड़ा गई है। तीसरे दिन गुरुवार का खेल खत्म होने तक उसने अपने सात विकेट महज 187 रनों पर ही खो दिए। हालांकि, उसके पास 371 रनों की बढ़त है। इंडिया ब्लू अपनी पहली पारी में इंडिया रेड के विशाल स्कोर के सामने 299 रनों पर ही ढेर हो गई थी। इसी कारण इंडिया रेड के पास मजबूत बढ़त है। वैसे इस मैच में भी सुरेश रैमा का जादू नहीं देखने को मिला और वह 1 रन बनाकर आउट हो गए।

दिन का खेल समाप्त होने तक पहली पारी में अर्धशतक लगाने वाले ऑफ स्पिनर वॉशिंगटन सुंदर 42 रन बनाकर खेल रहे थे। सिद्धार्थ कौल दो रनों पर नाबाद हैं। अपने दूसरे दिन के स्कोर पांच विकेट के नुकसान पर 181 रनों से आगे खेलने उतरी इंडिया ब्लू की टीम को मंगलवार के नाबाद बल्लेबाज जयदेव उनादकट और अभिमन्यु ईश्वरन ने जल्दी ऑल आउट होने से बचाया।

ईश्वरन ने 171 गेंदों में 15 चौकों की मदद से 127 रनों की पारी खेली। उनादकट ने 90 गेंदों में चार छक्के और सात चौकों की मदद से 83 रन बनाए। इन दोनों ने छठे विकेट के लिए 180 रनों की साझेदारी करते हुए टीम को संभाला। ईश्वरन 263 के कुल स्कोर पर आउट हुए और उनादकट 290 के कुल स्कोर पर पवेलियन लौटे। ईशांत शर्मा तीन रनों पर नाबाद लौटे। [ये भी पढ़ें: इंग्लैंड के खिलाफ दोहरा शतक जड़ने से चूके एविन लुइस, 176 रनों पर लगी चोट]

अपनी दूसरी पारी खेलने उतरी इंडिया रेड को अच्छी शुरुआत नहीं मिली। उसने अपने चार विकेट 58 रनों पर ही गंवा दिए। पृथ्वी शॉ (31), अखिल हेरवाडकर (8), इशांक जग्गी (3), कप्तान दिनेश कार्तिक (9) पवेलियन लौट चुके थे।

यहां से 116 गेंदों का सामना करते हुए छह चौकों की मदद से 59 रनों की पारी खेलने वाले बाबा इंद्रजीत ने सुंदर के साथ मिलकर टीम को संभाला और स्कोर 100 के पार पहुंचाया। इंद्रजीत 135 के कुल स्कोर पर आउट हुए। सूर्यकुमार यादव ने 22 रनों का योगदान दिया। विजय गोहली तीन रन ही बना सके। भार्गव भट्ट ने इंडिया ब्लू के लिए तीन और अक्षय वाघारे ने दो विकेट लिए।