रोहित शर्मा- विराट कोहली © Getty Images
रोहित शर्मा- विराट कोहली © Getty Images

भारत बनाम श्रीलंका चौथे वनडे में टीम इंडिया के दो प्रमुख बल्लेबाजों विराट कोहली और रोहित शर्मा ने 219 रनों की धमाकेदार साझेदारी बनाई थी। मैच के बाद उप कप्तान रोहित शर्मा ने बीसीसीआई टीवी के लिए कप्तान कोहली का इंटरव्यू लिया। इस दौरान अपनी कप्तानी में टीम इंडिया की लगातार जीत का राज पूछे जाने पर कोहली ने कहा, “खिलाड़ियों के अंदर अच्छा प्रदर्शन करने की जो भूख है, उसी की वजह से हम जीत हासिल कर रहे हैं। एक-दो मैच में अच्छा खेलने के बाद भी वह रुकते नहीं हैं और आगे के मैचों में बेहतर प्रदर्शन करने की कोशिश करते हैं। इससे मेरा काम काफी आसान हो जाता है। मैं केवल फील्ड लगाता हूं, बाकी सब खिलाड़ी ही करते हैं।”

शिखर धवन के जल्दी आउट होने के बाद दोनों खिलाड़ियों ने टीम की पारी को संभाला और टीम को 375 के विशाल स्कोर की तरफ ले गए। जब रोहित ने पूछा कि कोलंबो मैच में बल्लेबाजी करते समय दोनों ने क्या खास रणनीति अपनाई थी, तो कोहली ने जवाब दिया, “कोलंबो में दिन के समय काफी गर्मी थी इस वजह से हमने सोचा था कि 16वें ओवर के बाद दो रन नहीं लेंगे ताकि हम जल्दी ना थकें। इससे हमे काफी मदद मिली, हम ज्यादा नहीं सोच रहे थे और केवल गेंद पर ध्यान दे रहे थे।” रोहित के साथ बल्लेबाजी करने के बारे में बात करते हुए कोहली ने कहा, “हम बल्लेबाजी का मजा ले रहे थे और स्कोरबोर्ड पर ध्यान नहीं दे रहे थे। आपके साथ बल्लेबाजी करने में हमेशा ही मजा आता है। हमने साथ में कई बड़ी साझेदारियां बनाई हैं और ये भी उनमें से एक थी।” [ये भी पढ़ें: वनडे क्रिकेट में 400 शतकीय साझेदारी निभाने वाली दुनिया की पहली टीम बनी इंडिया]

कोहली का कहना है कि आज टीम जिस भी मुकाम पर है उसमें खिलाड़ियों के साथ साथ सपोर्ट स्टाफ का भी बड़ा योगदान है। उन्होंने कहा, “हमारी सफलता में सपोर्ट स्टाफ का योगदान बहुत बड़ा है। जब मुझे 2014-15 में टेस्ट कप्तानी दी गई थी तब टीम सातवें स्थान पर थी और इन्हीं लोगों के साथ हमने नंबर एक तक का सफर तय किया। वह टीम के लिए खास हैं और सभी खिलाड़ी उन्हें पसंद करते हैं। रघू जो कि हमारी बल्लेबाजी के बेहतर होने का सबसे बड़ा कारण हैं, टीम के लिए कड़ी मेहनत कर रहा है। उसके साथ संजय बांगड़ ने भी काफी काम किया है। फील्डिंग में श्रीधर कमाल का काम कर रहे हैं और अरुन पाजी गेंदबाजो के साथ मेहनत करते हैं। वहीं रवि भाई खिलाड़ियों को काफी प्रोत्साहित करते हैं।