India vs West Indies, 1st T20: Proud feeling to get India cap; Says Krunal Pandya
Hardik-and-Krunal-Pandya © twitter page

जब कोई बच्‍चा क्रिकेट सीखता है तो उसका सपना होता है कि बड़ा होकर वो देश के लिए खेले। कई ऐसे खुशकिस्‍मत होते हैं कि उन्‍हें जल्‍दी ही नेशनल टीम में जगह मिल जाती है तो कइयों को इंटरनेशनल क्रिकेट में डेब्‍यू को लंबा इंतजार करना पड़ जाता है।

27 साल के ऑलराउंडर क्रुणाल पांड्या भी उन खिलाडि़यों में शामिल हैं जिन्‍हें टीम इंडिया का कैप पहनने के लिए कड़ी मशक्‍कत करनी पड़ी है। वेस्‍टइंडीज के खिलाफ इस खिलाड़ी को आखिरकार टी-20 के जरिए रविवार को इंटरनेशनल स्‍तर पर डेब्‍यू का मौका मिल गया।

क्रुणाल ने अपने चार ओवर की गेंदबाजी में 15 रन देकर एक विकेट हासिल किया। उन्‍होंने अपना पहला इंटरनेशनल विकेट विंडीज के धाकड़ और आईपीएल के अपने साथी मुंबई इंडियंस के ऑलराउंडर कीरोन पोलार्ड के रूप में मिला।

‘बचपन का सपना हुआ पूरा’

क्रुणाल ने इंटरनेशनल स्‍तर पर डेब्‍यू करने के बाद कहा कि उन्‍हें इंडिया का कैप पहनकर बहुत गर्व हो रहा है क्‍योंकि ये उनका बचपन का सपना था। बकौल क्रुणाल, ‘ भारतीय टीम के लिए खेलने का अहसास ही अलग होता है। मुझे बहुत अच्‍छा लग रहा है। मैंने अपना पहला इंटरनेशनल विकेट कीरोन पोलार्ड के रूप में लिया है जो मेरे बहुत अच्‍छे दोस्‍त हैं। मैं उन्‍हें भाई कह सकता हूं। निश्चिततौर पर जब मैं उन्‍हें मिलूंगा तो मैं उन्‍हें चिढ़ाउंगा।’

हार्दिक ने कुछ इस तरह से दी बड़े भाई को बधाई

चोट की वजह से टीम से बाहर चल रहे हार्दिक पांड्या ने टिवटर पर एक विडियो शेयर किया और बड़े भाई को बधाई दी। उन्होंने विडियो में कहा, ‘वेल डन ब्‍वॉय…! हमने यह सपना देखा था। आखिरकार आपने इसे पा लिया। मैं वहां नहीं हूं, लेकिन आपके लिए खुश हूं। मेरी तरफ से ढेर सारी शुभकामनाएं। आगे बढ़ो और चुनौतियों का सामना करो। बहुत सारा प्यार।’