IPL 2019: Andre Russell ready to bat at number-4 for Kolkata
आंद्रे रसेल (BCCI)

इंडियन प्रीमियर लीग के 12वें सीजन में कोलकाता नाइट राइडर्स के सबसे सफल बल्लेबाज आंद्रे रसेल का धमाकेदार अर्धशतक भी टीम रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के खिलाफ हार से नहीं बचा सका। 214 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए कोलकाता टीम ने 79 के स्कोर पर चार विकेट खो दिए, जिसके बाद रसेल क्रीज पर आए और नितीश राणा के साथ मिलकर शतकीय साझेदारी बनाई। 25 गेंदो पर 65 रनों की रसेल की पारी के दम पर कोलकाता की हार का अंतर कम हुआ और टीम 10 रन से मैच हारी। जिसके बाद फैंस के जहन में एक सवाल आया कि अगर रसेल शीर्ष क्रम में बल्लेबाजी करने उतरते तो क्या मैच का नतीजा बदलता, जिससे रसेल भी सहमत हैं।

मैच के बाद इस बारे में बात करते हुए रसेल ने कहा कि वो नंबर चार पर बल्लेबाजी करने के लिए तैयार हैं। उन्होंने कहा, “ईमानदारी से कहूं तो आपको टीम के लिए लचीला होना पड़ता है। जब आप हमारी टीम के क्रम को देखते हैं तो, मुझे नंबर चार पर खेलने में कोई परेशानी नहीं है। क्योंकि मेरा मानना है कि जब मैं क्रीज पर होता तो विराट कोहली अपने सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजों को मुझे आउट करने के लिए लगाता और फिर उन सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजों के पास आखिर में करने के लिए कम ओवर होते। इसलिए अगर मैं 25 गेंदों पर 60 रन भी बनाता हूं और टीम को अच्छी शुरुआत दिलाता हूं, फिर डेल स्टेन जैसे गेंदबाजों के पास डेथ में करना के लिए केवल एक ओवर ही होगा। इसिलए मुझे लगता है कि मेरा जल्दी बल्लेबाजी करना केकेआर के लिए अच्छा होगा लेकिन टीम के क्रम को देखते हुए, मुझे नहीं लगता है कि फिलहाल ये सही होगा।”

200 के करीब के स्कोर का पीछा करते हुए किसी भी टीम को शीर्ष क्रम बल्लेबाजों से अच्छी शुरुआत चाहिए होती। रसेल और राणा ने आखिरी में मिलकर कितने भी रन जोड़े हों लेकिन बीच के ओवरों में जो रन नहीं बन पाए, आखिर में वही कोलकाता की हार का कारण बने।

ये भी पढ़ें: विराट कोहली ने कहा- मोइन अली की बल्लेबाजी ने पूरा खेल बदला दिया

इस पर रसेल ने कहा, “किसी बल्लेबाज के लिए क्रीज पर जाना और 14-15 रन प्रति ओवर का पीछा करना, बतौर बल्लेबाज शुरुआत करने का ये आदर्श तरीका नहीं है। मैं इस तरह के हालात का आदी हूं लेकिन मैं इसलिए ये कह रहा हूं कि ये अच्छा और बुरा एहसास है क्योंकि बतौर टीम हमें इससे सबक लेने की जरूरत है। हम ये सीखने की जरूरत है कि हम 214 रन बना सकते हैं और 10 रन से हारने का मतलब है कि हम केवल दो शॉट दूर थे। बीच के ओवरों में अगर हमने तेज बल्लेबाजी की होती तो हम यकीनन कुछ गेंद बाकी रहते ये रन बना लेते। नितीश ने अच्छी बल्लेबाजी की लेकिन ये सोचने वाली बात है।”

ये भी पढ़ें: विराट कोहली का शतक, मोइन अली की धमाकेदार पारी के सामने हारी कोलकाता

रसेल का कहना है कि बैंगलोर के खिलाफ मैच में मिली हार के बाद कोलकाता को टीम को लेकर फिर से विचार करना होगा। उन्होंने कहा, “हमें फिर से बैठक कर इन सब चीजों पर विचार करने के जरूरत है, कि सही समय पर क्या करना है। टी20 क्रिकेट में एक ओवर बड़ा अंतर पैदा कर सकता है। इसलिए मैं निराश हूं, अब हम दबाव में हैं और हमें वापसी करनी होगी। मुझे उम्मीद है कि मेरे और नितीश की साझेदारी से हम कुछ सीख सकेंगे और उम्मीद है कि हम बाकी खिलाड़ियों को ये विश्वास दिला सकेंगे कि चाहे जो परिस्थिति हो, अगर हमें 220 के लक्ष्य का पीछा करने पड़े, तो हम वो भी कर सकते हैं।”