इंडियन प्रीमियर लीग (IPL 2020)  फ्रेंचाइजी किंग्स इलेवन पंजाब (Kings XI Punjab) के मुख्य कोच अनिल कुंबले (Anil Kumble) चाहते हैं कि क्रिस गेल (Chris Gayle) जैसे सीनियर खिलाड़ी मेंटरशि भूमिका में ज्यादा सक्रिय हों.  कुंबले आईपीएल में एकमात्र भारतीय मुख्य कोच हैं.

कुंबले के अलावा आईपील के आगामी सीजन से जुड़े कोचों को देखें तो रिकी पोंटिंग (Delhi Capitals), ब्रेंडन मैक्कुलम (Kolkata Night Riders), स्टीफन फ्लेमिंग (Chennai Super Kings), महेला जयवर्धने (Mumbai Indians), ट्रेवर बेलिस (Sunrisers Hyderabad) साइमन कैटिच (Royal Challengers Bangalore) और एंड्रयू मैकडोनाल्ड (Rajasthan Royals) के मुख्य कोच भारतीय नहीं है.

कुंबले ने मंगलवार को एक ऑनलाइन संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘मैं आईपीएल में अधिक भारतीय कोच देखना चाहूंगा.  यह भारतीय संसाधनों का सही प्रतिबिंब नहीं है.  मैं कई भारतीयों को मुख्य कोच के रूप में आईपीएल में देखना चाहता हूं.’

‘मुख्य कोच के रूप में सिर्फ एक भारतीय का होना एक विडंबना है’

भारत के इस पूर्व दिग्गज गेंदबाज ने कहा, ‘मुख्य कोच के रूप में सिर्फ एक भारतीय का होना एक विडंबना है .मुझे लगता है कि किसी समय भारतीय कोच की संख्या अधिक होगी. ’

किंग्स इलेवन पंजाब के बारे में पूछे जाने पर कुंबले ने कहा कि टीम जैव सुरक्षित महौल के कड़े नियमों का पालन करते हुए मानसिक और शारीरिक तौर पर अच्छी स्थिति में है.  पिछले दो सत्र की तरह आगामी आईपीएल में 40 साल के गेल को अधिक मौके दिए जाने के बारे में पूछने पर कुंबले ने कहा कि गेल इस सत्र में भी नेतृत्व समूह में शामिह होंगे, जहां उनकी भूमिका काफी महत्वपूर्ण होगी, जैसे शीर्ष क्रम पर बल्लेबाजे के दौरान होती है.

11 खिलाड़ियों को उतरने का मिलेगा मौका

गेल के अलावा टीम में ग्लेन मैक्सवेल, क्रिस जॉर्डन, जिमी नीशम, निकोलस पूरन, मुजीब जादरान, हार्डस विलजोन और साढे आठ करोड़ रुपये की बोली के साथ टीम में शामिल हुए शेल्डन कॉटरेल विदेशी खिलाड़ी है.  इनमें से अंतिम 11 में सिर्फ खिलाड़ियों को मैदान पर उतरने का मौका मिलेगा.

‘गेल की भूमिका अहम होगी’

कुंबले ने कहा, ‘हमें अभी भी मुख्य मैदान में परिस्थितियों को देखना होगा क्योंकि हम अभ्यास कर रहे हैं (आईसीसी अकादमी में).  खिलाड़ी के रूप में भी क्रिस (गेल) की प्रमुख भूमिका रहेगी.  युवा खिलाड़ी उनके नेतृत्व कौशल और अनुभव से सीखना चाहेंगे.  उन्हें हम सिर्फ एक बल्लेबाज के रूप में नहीं देख रहे, वह युवा खिलाड़ियों को विकसित करने में अहम भूमिका में होंगे.  मैं चाहता हूं कि वह मेंटरशिप भूमिका में सक्रिय हों.’