महेंद्र सिंह धोनी (Mahender Singh Dhoni) की अगुआई वाली चेन्नई सुपरकिंग्स (Chennai Super Kings) के लिए आईपीएल 2020 (IPL 2020) कुछ खास नहीं रहा। 3 बार की चैंपियन चेन्नई प्लेऑफ में जगह बनाने से चूक गई है। आईपीएल के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है जब सीएसके टीम अंतिम4 में पहुंचने में विफल रही है। इन सबके बावजूद अब सबके जेहन में एक ही सवाल है कि क्या धोनी अगले साल सीएसके के कप्तान होंगे।

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व सलामी बल्लेबाजी गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) का कहना है कि सीएसके (CSK) और धोनी के बीच आपसी विश्वास का इतना अच्छा रिश्ता है कि वह इस साल लचर प्रदर्शन के बावजूद 2012 में भी टीम की कमान संभाल सकते हैं।

12 में से 8 मैच हार चुकी है चेन्नई 

पिछली बार की उप विजेता चेन्नई ने मौजूदा सीजन में 12 में से 8 मैच हारकर आखिरी स्थान पर है। गंभीर ने ईएसपीएन क्रिकइन्फो से कहा ,‘मैं हमेशा कहता हूं कि सीएसके को बनाने में मालिकों और कप्तान के बीच संबंधों का बड़ा हाथ है ।उन्होंने एमएस को पूरी आजादी दी और उसे मालिकों से पूरा सम्मान मिला ।’

उन्होंने कहा ,‘ यदि वे उन्हें बरकरार रखते हैं तो मुझे हैरानी नहीं होगी। वह तब तक खेल सकते हैं, जब तक वह चाहें। हो सकता है कि अगले साल बदली हुई चेन्नई टीम के साथ वह कप्तान के रूप में नजर आएं।’

‘धोनी और चेन्नई टीम मालिकों के बीच शानदार रिश्ता’

गंभीर ने कहा ,‘मालिकों से इस तरह के सम्मान के वह हकदार हैं ।’ उन्होंने जो टीम के लिए किया और टीम मालिकों ने उन्हें जो सम्मान दिया, वह शानदार रिश्ता है। हर टीम को अपने कप्तान के साथ ऐसे ही पेश आना चाहिए।’

उन्होंने कहा ,‘एमएस ने उन्हें तीन आईपीएल खिताब, दो चैम्पियंस लीग खिताब दिए और मुंबई इंडियंस के बाद सबसे कामयाब टीम बनाया। सीएसके अगर एमएस को ही कप्तान रखती है तो यह उनका रिश्ता और आपसी विश्वास है। यही वजह है कि एमएस टीम के प्रति वफादार रहे। उन्होंने अपना सब कुछ दिल, दिमाग, पसीना, रातों की नींद टीम को दी.’