हर साल की तरह इस बार भी कई युवा खिलाड़ी ऐसे हैं  जो इंडियन प्रीमियर लीग (IPL 2020) में पहली बार खेलने को तैयार हैं.  इन्हीं में से एक मुंबई के दाएं हाथ के युवा तेज गेंदबाज तुषार देशपांडे (Tushar Deshpande) भी हैं जिनका कहना है कि उन्हें इस लीग से  काफी कुछ सीखने को मिलेगा.  25 वर्षीय तुषार दिल्ली कैपिटल्स (Delhi Capitals) टीम  में शामिल हैं जिसमें पेसर  कगीसो रबाडा (Kagiso Rabada) और इशांत शर्मा (Ishant Sharma) जैसे अनुभवी गेंदबाज हैं.  तुषार इन दोनों  गेंदबाजों से गेंदबाजी का गुर सीखना चाहते हैं.

देशपांडे ने रणजी के 20 मैचों में 50 विकेट लिए हैं.  उन्हें इस बात की खुशी है कि काविड-19 महामारी के कारण छह महीने तक खेल से दूर रहने के बाद वह वापसी कर रहे हैं.

आईसीसी अकादमी में अभ्यास सत्र के दौरान देशपांडे ने कहा, ‘यह मेरा पहला आईपीएल है इसलिए यह हमेशा खास रहेगा.  मेरे लिए जो चीज इसे और विशेष बनाती है वह है कि मुझे वह करने को मिल रहा है जो मुझे सबसे ज्यादा पसंद है, वह गेंदबाजी है.  मैं लगभग छह महीने बाद गेंदबाजी कर रहा हूं इसलिए यह एक अलग चुनौती है. ’

उन्होंने कहा, ‘टीम के सभी गेंदबाजों को आईपीएल का अनुभव है और वे सभी मेरे सीनियर हैं.  इशांत और रबाडा जैसे लोगों के होने से मेरे जैसे पहली बार लीग का हिस्सा बनने वाले गेंदबाजों के लिए मददगार होगा. ’

‘दिल्ली कैपिटल्स को युवाओं को मौका देने के लिए जाना जाता है’

मध्यक्रम के बल्लेबाज ललित यादव (Lalit Yadav) को बड़े शॉट लगाने के लिए जाना जाता है और वह कामचलाऊ ऑफ स्पिनर गेंदबाज भी है. उनका मानना है कि कैपिटल्स की टीम में युवा खिलाड़ियों को सही मंच मिलता है.

उन्होंने कहा, ‘दिल्ली कैपिटल्स को युवाओं को मौका देने के लिए जाना जाता है.  हमारी टीम में इसके कई उदाहरण है.  हमारे कप्तान श्रेयस अय्यर, पृथ्वी शॉ और रिषभ पंत (Rishabh Pant) की प्रतिभा को दिल्ली की टीम ने ही पहचाना’

यादव ने 30 टी20 मैचों में 136 से अधिक के स्ट्राइक रेट से रन बनाये है.  इस 23 साल के खिलाड़ी ने कहा, ‘इसलिए, यह निश्चित रूप से मेरे लिए सही मौका है.  मैं बेहतर प्रदर्शन करके भारतीय टीम में जगह बनाने की ओर आगे बढ़ना चाहता हूं ,जैसे उन्होंने किया है. ’