IPL 2020 Final, MI vs DC: Mumbai Indians beat Delhi Capitals and lift title for record 5th time
Rohit Sharma with Trent Boult @ Twitter/ IPL

ट्रेंट बोल्ट की अगुवाई में गेंदबाजों के शानदार प्रदर्शन और रोहित शर्मा की कप्तानी पारी से मुंबई इंडियन्स ने अपनी बादशाहत बरकरार रखते हुए दिल्ली कैपिटल्स को मंगलवार को यहां पांच विकेट से हराकर पांचवीं बार इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) का खिताब जीता।

टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी के लिये उतरी दिल्ली की टीम सात विकेट पर 156 रन ही बना पायी। मुंबई ने 18.4 ओवर में पांच विकेट पर 157 रन बनाकर पिछले आठ साल में पांचवीं बार खिताब जीता। रोहित ने 50 गेंदों पर 68 रन बनाये जिसमें पांच चौके और चार छक्के शामिल हैं। इशान किशन (19 गेंदों पर नाबाद 33 रन, तीन चौके, एक छक्का) ने फिर से अपना प्रभाव छोड़ा।

IPL 2020 Final: आईपीएल इतिहास में पहली बार हुआ ऐसा, तीन गेंदबाजों ने किया ये काम

मुंबई पहली बार 2013 में चैंपियन बना था। इसके बाद उसने 2015, 2017 और 2019 में भी खिताब जीता। इस तरह से यह पहला अवसर है जबकि वह अपने खिताब का बचाव करने में सफल रहा। इससे पहले केवल चेन्नई सुपरकिंग्स (2010 और 2011) ऐसा करने में सफल रहा था। मुंबई दो बार चैंपियन्स लीग का चैंपियन भी रहा है। दिल्ली की टीम पहली बार फाइनल में पहुंची थी और उसका यह आईपीएल में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है।

दिल्ली का स्कोर एक समय तीन विकेट पर 22 रन था लेकिन इसके बाद अय्यर (50 गेंदों पर नाबाद 65 रन, छह चौके, दो छक्के) और पंत (38 गेंदों पर 56 रन, चार चौके, दो छक्के) ने चौथे विकेट के लिये 96 रन जोड़कर स्थिति संभाली। बोल्ट ने 30 रन देकर तीन और नाथन कूल्टर नाइल ने 29 रन देकर दो विकेट लिये। दिल्ली ने अंतिम तीन ओवरों में केवल 20 रन बनाये।

मुंबई ने इस सत्र में चौथी बार दिल्ली पर आसान जीत दर्ज की। उसने गेंदबाजी के बाद बल्लेबाजी में भी आक्रामक शुरुआत की। रोहित ने रविचंद्रन अश्विन का छक्के से स्वागत किया तो कैगिसो रबाडा के पहले ओवर में 18 रन बने जिसमें क्विंटन डिकॉक (12 गेंदों पर 20 रन) के दो चौके और एक छक्का शामिल है।

IPL 2020 Final MI vs DC: मुंबई इंडियंस रेकॉर्ड 5वीं बार चैंपियन, जीत में चमके ये 5 खिलाड़ी

रोहित ने एनरिक नोर्जे पर चौका और छक्का लगाया तो अय्यर ने पांचवां ओवर मार्कस स्टोइनिस को सौंपा जिन्होंने पहली गेंद पर ही डिकॉक को विकेट के पीछे कैच करा दिया। सूर्यकुमार यादव ने हालांकि अपनी पहली दो गेंदों पर 10 रन बटोरकर दिल्ली को जश्न नहीं मनाने दिया। मुंबई ने पावरप्ले में एक विकेट पर 61 रन बनाये।

जब अक्षर पटेल (चार ओवर में 16 रन) बल्लेबाजों पर अंकुश लगा रहे थे तब रोहित ने लेग स्पिनर प्रवीण दुबे पर लांग ऑफ और लांग ऑन पर छक्के लगाकर चुप्पी तोड़ी लेकिन सूर्यकुमारश् (20 गेंदों पर 19) ने अपने कप्तान का विकेट बचाये रखने के लिये खुद को रन आउट करवाया। रोहित ने इसके बाद रबाडा पर चौका लगाकर अपना अर्धशतक पूरा किया।

नये बल्लेबाज इशान किशन ने स्टोइनिस पर छक्का लगाकर स्वच्छंद शॉट लगाने के अपने कौशल का अच्छा नमूना पेश किया। रोहित की पारी का अंत सबस्टि्यूट ललित यादव ने बेहतरीन कैच लेकर किया लेकिन तब मुंबई को 22 गेंदों पर केवल 20 रन चाहिए थे। कीरोन पोलार्ड (नौ) और हार्दिक पंड्या (तीन) लेकिन इससे परिणाम पर कोई असर नहीं पड़ा।

इससे पहले दिल्ली का पहले बल्लेबाजी का फैसला उस पर भारी पड़ता दिखा। पिच से उछाल मिल रही थी और दिल्ली के बल्लेबाज शुरू में उससे सामंजस्य नहीं बिठा पाये। उसने पहले चार ओवर में ही स्टोइनिस, अजिंक्य रहाणे और शिखर धवन के विकेट गंवा दिये थे।

बोल्ट पिछले मैच में चोटिल हो गये थे लेकिन पूरी तरह से फिट होकर नयी गेंद संभाली और पहली गेंद पर ही स्टोइनिस को विकेटकीपर क्विंटन डिकॉक के हाथों कैच कराकर दिल्ली के दांव का दम निकाल दिया। इसके बाद उन्होंने नये बल्लेबाज रहाणे (दो) को भी विकेट के पीछे कैच कराया जबकि राहुल चाहर की जगह टीम में लिये गये जयंत यादव (25 रन देकर एक) ने धवन (15) को बोल्ड करके अपने चयन को सही साबित किया।

IPL 2020 Final: रोहित शर्मा ने पूरे किए अपने 200 IPL मैच, बने ऐसा करने वाले दूसरे खिलाड़ी

अय्यर और पंत ने पारी संवारने का बीड़ा उठाया। इस बीच अय्यर जब 14 रन पर थे तब इशान किशन ने कवर पर उनका मुश्किल कैच छोड़ा। पूरे आईपीएल में रन बनाने के लिये जूझने वाले पंत ने शुरू में टिककर खेलने को प्राथमिकता दी और स्ट्राइक रोटेट करने पर ध्यान दिया। दसवें ओवर में जब क्रुणाल पंड्या गेंदबाजी के लिये आये तो पंत ने दो गगनदायी छक्कों से उनका स्वागत किया। इसके कारण रोहित शर्मा को बुमराह को गेंद सौंपनी पड़ी थी।

अय्यर ने पोलार्ड पर अपनी पारी का पहला छक्का लगाया तो पंत ने कूल्टर नाइल पर फाइन लेग पर चौका लगाकर इस सत्र का अपना पहला अर्धशतक पूरा किया। इसी ओवर में उन्होंने हालांकि आसान कैच देकर अपना विकेट इनाम में दिया।

अय्यर टिके रहे और 40 गेंदों पर अर्धशतक पूरा किया लेकिन बोल्ट ने दूसरे स्पैल में आकर शिमरोन हेटमयर (पांच) को नहीं टिकने दिया जिससे दिल्ली की डैथ ओवरों की रणनीति भी गड़बड़ा गयी।

इसके साथ ही कोविड-19 के कारण जैव सुरक्षित वातावरण में खेले गये 13वें आईपीएल का भी समापन हो गया।