It wasn’t that tough a total to chase but we just didn’t get partnerships; Says Harmanpreet Kaur
Harmanpreet Kaur @twitter (file image)

हरमनप्रीत कौर (Harmanpreet Kaur) की कप्तानी वाली सुपरनोवाज (Supernovas) टीम लगातार तीसरी बार महिला टी20 चैलेंज (Women’s T20 Challenge) खिताब जीतने से चूक गई। इस बार सुपरनोवाज को उप विजेता से संतोष करना पड़ा है। सोमवार को खेले गए फाइनल में स्मृति मंधाना की ट्रेलब्लेजर्स ने सुपरनोवाज को 16 रन से पराजित कर पहली बार चैंपियन बनने का तमगा हासिल किया।

हरमनप्रीत ने हार के लिए साझेदारी नहीं बनने को जिम्मेदार ठहराया और कहा कि लक्ष्य इतना बड़ा नहीं था कि इसे हासिल नहीं किया जा सकता था। मंधाना की अर्धशतकीय पारी के बावजूद 8 विकेट पर 118 रन ही बना सकी जिमसें राधा यादव ने 5 विकेट झटके जिन्हें ‘प्लेयर ऑफ द सीरीज’ चुना गया। जवाब में दो बार की चैंपियन सुपरनोवाज की टीम निर्धारित 20 ओवर में 7 विकेट पर 102 रन ही बना सकी।

हरमनप्रीत चोट के बावजूद क्रीज पर डटी रहीं और 30 रन बनाकर शीर्ष स्कोरर रहीं। लेकिन अपनी टीम को जीत तक नहीं पहुंचा सकी। उन्होंने कहा, ‘चोट इतनी ज्यादा खराब नहीं है लेकिन इस मैच से हमने काफी कुछ सीखा। ’

विराट कोहली के ऑस्ट्रेलिया सीरीज से लौटने के फैसले से हैरान हैं वॉ

उन्होंने कहा, ‘इस लक्ष्य को हासिल करना इतना मुश्किल नहीं था, लेकिन हम कोई बड़ी साझेदारी नहीं बना सके। आपको कम से कम दो अच्छी भागीदारियां चाहिए थीं। यह बहुत मुश्किल हो गया क्योंकि मुझे क्षेत्ररक्षण करते हुए चोट लग गयी। मैंने अपना सर्वश्रेष्ठ प्रयास किया लेकिन अंत में यह काफी नहीं था।’

कोरोना वायरस के कारण लगे लॉकडाउन के कारण घर पर रहने के बारे में हरमनप्रीत ने कहा, ‘घर पर बैठना काफी कठिन था, जो हालात हैं हमें उसका सम्मान करना चाहिए। हमें सुरक्षित रहना चाहिए, भले ही हम खेल रहे हों या नहीं। ’

‘मैंने लड़कियों से कहा कि हमारे पास ये अंतिम 20 ओवर हैं और पता नहीं कि फिर कब मौका मिले’

राधा यादव (तीन मैचों में आठ विकेट) ने मैच के दौरान अपने पांच विकेट के बारे में कहा, ‘पांच विकेट लेकर अच्छा लगा लेकिन मैं खुश नहीं हूं क्योंकि हम हार गए। मैं पिच को देखकर काफी खुश थी क्योंकि यह स्पिन कर रही थी। योजना सरल चीजें करनी थीं, जहां तक संभव हो सामान्य रहने की थी।’

लॉकडाउन के बारे में उन्होंने कहा, ‘लॉकडाउन काफी मुश्किल था, लेकिन मैंने अपनी गेंदबाजी में काफी सुधार किया। शायद यह दिख रहा है। मैं लगातार खेल रही थी इसलिये मुझे मैदान की इतनी कमी नहीं खली। ’