जसज सक्सेना, Jalaj Saxena Facebook Page
जलज सक्सेना, Jalaj Saxena Facebook Page

कहते हैं कि मजबूत इमारत के लिए नींव का मजबूत होना जरूरी है। जिस तरह का प्रदर्शन टीम इंडिया मौजूदा समय में कर रही है उसका श्रेय घरेलू क्रिकेट को जाता है। पिछले कुछ सालों में कई क्रिकेटरों ने घरेलू क्रिकेट में शानदार प्रदर्शन करते हुए टीम इंडिया में अपनी जगह बनाई है। अब घरेलू क्रिकेट में एक और जलजले ने अपनी दस्तक दी है। हम बात कर रहे हैं मौजूदा रणजी ट्रॉफी में केरल की ओर से खेल रहे ऑलराउंडर जलज सक्सेना की। जलज ने राजस्थान के खिलाफ ग्रुप बी मैच में दोहरा प्रदर्शन किया। उन्होंने मैच में शतक तो जड़ा ही साथ ही पहली पारी में 8 विकेट भी झटक डाले।

ये मुकाम छूने वाले तीसरे क्रिकेटर बने जलज:

रणजी ट्रॉफी मैच की एक पारी में शतक और 8 विकेट लेने वाले जलज तीसरे खिलाड़ी हैं। उनके पहले ये कारनामा साल 1945-46 में चंदू सरवटे ने किया था उन्होंने 101 रन बनाए थे और 61 रन देकर 9 विकेट झटके थे, दूसरे नंबर पर रविंद्र पंडित ने 158 रन बनाए थे और 33 रन देकर 8 विकेट झटके थे। तीसरे नंबर पर जलज सक्सेना हैं उन्होंने 102* रन बनाए हैं और 85 रन देकर 8 विकेट झटके हैं।

विराट कोहली, भुवनेश्वर कुमार, पांड्या और बुमराह के अविश्वसनीय आंकड़े
विराट कोहली, भुवनेश्वर कुमार, पांड्या और बुमराह के अविश्वसनीय आंकड़े

जलज के दोहरे झटके के कारण मैच के तीसरे दिन ही राजस्थान टीम बैकफुट पर आ गई है। तीसरे दिन का खेल खत्म होने तक केरल ने दूसरी पारी में 2 विकेट पर 217 रन बना लिए हैं। इसके साथ ही केरल ने मैच में 309 रनों की बढ़त हासिल कर ली है। जलज सक्सेना 102 रन बनाकर नाबाद हैं। जलज ने इसके पहले, पहली पारी में 79 रन बनाए थे। पहली पारी में केरल ने 355 रन बनाए थे। जवाब में जलज सक्सेना की गेंदबाजी के आगे राजस्थान ज्यादा देर तक टिकी नहीं रह सकी और 243 पर ऑलआउट हो गई। इस दौरान जलज ने अकेले राजस्थान के अकेले 8 बल्लेबाजों का शिकार किया।