Karun Nair is not really looking beyond winning Ranji Trophy for Karnataka
करुण नायर (IANS)

चेन्नई टेस्ट में इंग्लैंड के खिलाफ 303 रन की नाबाद पारी खेलने वाले करुण नायर पिछले दो साल से भारतीय टीम से बाहर हैं। वीरेंद्र सहवाग के बाद तिहरा शतक बनाने वाले अकेले भारतीय बल्लेबाज नायर आखिरी बार 25 मार्च 2017 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ धर्मशाला टेस्ट में दिखे थे। हालांकि नायर फिलहाल राष्ट्रीय टीम में वापसी के बारे में ना सोचकर सारा ध्यान अपनी घरेलू टीम कर्नाटक को रणजी ट्रॉफी जिताने में लगे हैं।

कर्नाटक की कप्तानी कर रहे नायर ने कहा, “मेरे लिए बात हर एक मैच खेलने और कर्नाटक के लिए जितना हो सके उतना योगदान कर मैच जीतने की है। और मैं इस सीजन यही करने की कोशिश कर रहा हूं, मैं टीम के लिए बल्ले के साथ और कप्तान के तौर पर ज्यादा से ज्यादा योगदान देने के लिए तत्पर हूं।”

नायर से जब पूछा गया कि वो इसके आगे क्या सोच रहे हैं तो उन्होंने साफ इंकार कर दिया। नायर ने माना कि भविष्य में जो होने वाला है उस पर उनका कोई नियंत्रण नहीं है तो वो उसके बारे में नहीं सोच रहे हैं।

मयंक अग्रवाल की सफलता पर बोले करुण नायर- उसे मेहनत का फल मिला

उन्होंने कहा, “बिल्कुल नहीं, क्योंकि मेरे लिए सबसे पहले ये ध्यान देना जरूरी है कि यहां क्या हो रहा है और जो कुछ आगे होना है, उस पर मेरा कोई नियंत्रण नहीं है। मेरा सारा ध्यान यहां अच्छा प्रदर्शन करना और कर्नाटक के लिए योगदान करना है।”