Mark Wood says bio-secure England camp like a ‘sci-fi movie’
मार्क वुड © Getty Images

इंग्लैंड के तेज गेंदबाज मार्क वुड ने कहा कि उन्हें ऐसा लग रहा था कि वे वेस्टइंडीज के खिलाफ अगले महीने होने वाली टेस्ट सीरीज के लिए तैयार किया गया जैव-सुरक्षित प्रशिक्षण ‘बबल’ किसी साई-फाई फिल्म के जैसा है।

डरहम के लिए खेलने वाले वुड पहले टेस्ट के लिए हैम्पशायर के एजेस बाउल में अभ्यास कर रहे 29 इंग्लैंड क्रिकेटरों में से एक हैं। इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड द्वारा कराए गए इन सभी खिलाड़ियों के कोरोना वायरस टेस्ट निगेटिव रहे। दरअसल ईसीबी ने खिलाड़ियों और स्टाफ समेत 702 लोगों के टेस्ट कराए थे और सभी निगेटिव निकले।

कोविड-19 संक्रमण से बचने के लिए इंग्लैंड-वेस्टइंडीज टेस्ट सीरीज खाली स्टेडियम में बिना दर्शकों के खेली जाएगी। उन्होंने कहा, ” तापमान चेक करना अजीब था। आप एक टेंट में जाते हैं और वो आपको बताते हैं कि आप ठीक हैं। मुझे नहीं पता कि क्या होगा अगर आप ठीक नहीं हैं तो। ये साई-फाई फिल्म जैसा है। हर कोई मास्क लगाए हुए हैं। आपको नहीं पता कि वो दोस्त हैं या नहीं।”

‘भारत में Game Changer साबित होगा मैच फिक्सिंग लॉ’, ICC एंटी करप्शन अधिकारी ने दिया बयान

वुड ने आगे कहा, “खाना भी अलग है, सभी लोग आपकी तरफ पीठ करके अलग अलग टेबल पर बैठते हैं। आज सुबह मैंने नाश्ता किया और जोस बटलर का सिर पीछे से देखा। आपको चिन्हों का अनुसरण करना होता है। हर जगह पैरों को निशान बने हुए हैं। जैसे किस एक रास्ता एक तरफ है और दूसरा रास्ता दूसरी तरफ।”

इंग्लैंड-वेस्टइंडीज सीरीज का पहला टेस्ट 8 जुलाई को एजेस बाउल में ही खेला जाना है।