मोहम्मद हफीज © Getty Images
मोहम्मद हफीज © Getty Images

आईसीसी की ओर से गेंदबाजी पर बैन के बाद मोहम्मद हफीज ने बांग्लादेश प्रीमियर लीग में ना खेलने का फैसला किया है। हफीज ने ये फैसला अपने खराब गेंदबाजी एक्शन को सुधारने के लिए किया है। हफीज ने एक बयान देते हुए कहा, ‘मैंने बांग्लादेश प्रीमियर लीग में कॉमिला विक्टोरियंस के लिए नहीं खेलने का फैसला किया। इसकी जगह मैं लाहौर में रहूंगा और अपने गेंदबाजी एक्शन को सुधारूंगा। एक्शन में सुधार कर मैं एक बार फिर आईसीसी की लैब में बायोमैकेनिक्स टेस्ट दूंगा।’ मोहम्मद हफीज को 18 नवंबर से बांग्लादेश प्रीमियर लीग की फ्रेंचाइजी से जुड़ना था।

इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल ने पाकिस्तानी ऑलराउंडर मोहम्मद हफीज की गेंदबाजी पर बैन लगा दिया है क्योंकि उनका गेंदबाजी एक्शन अवैध पाया गया है। श्रीलंका के खिलाफ हुए तीसरे वनडे मैच में मोहम्मद हफीज का एक्शन संदिग्ध पाया गया था जिसके बाद लंदन में उनके एक्शन की जांच हुई, जहां उनका एक्शन गलत पाया गया। जांच के नतीजों में सामने आया कि मोहम्मद हफीज का हाथ 15 डिग्री के लेवल से ज्यादा मुड़ रहा था, जो कि नियमों के खिलाफ है।

दिल्ली डेयरडेविल्स के कोच होंगे रिकी पोंटिंग: सूत्र
दिल्ली डेयरडेविल्स के कोच होंगे रिकी पोंटिंग: सूत्र

मोहम्मद हफीज इससे पहले भी दो बार अवैध बॉलिंग एक्शन के चलते बैन हो चुके हैं। इससे पहले दिसंबर 2014 में हफीज पर गेंदबाजी करने पर बैन लग गया था। हफीज पर ये बैन लगभग पांच महीने तक रहा था हालांकि अप्रैल 2015 में हफीज को दोबारा गेंदबाजी करने की मंजूरी मिल गई थी। कुछ ही महीनों के बाद श्रीलंका के खिलाफ पहले टेस्ट में हफीज का गेंदबाजी एक्शन फिर से संदिग्ध पाया गया और उनपर लगभग एक साल का बैन लग गया था। इसके बाद हफीज को नवंबर 2016 में फिर से गेंदबाजी करने की हरी झंडी मिल गई थी।