महेंद्र सिंह धोनी  © IANS
महेंद्र सिंह धोनी © IANS

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के कप्तानी छोड़ने के बाद उनके फैंस को झटका लगा था। नौ साल तक सफल कप्तान रहने के बाद धोनी ने अचानक इस पद से हटने का फैसला किया था। हालांकि अब भी मैदान पर धोनी कप्तान विराट कोहली की मदद करते हैं लेकिन दर्शक उन्हें फिर से कैप्टन कूल के रूप में देखना चाहते हैं। अब जल्द ही उनकी यह ख्वाहिश पूरी होने वाली है क्योंकि धोनी सैयद मुश्ताक अली टी20 टूर्नामेंट में अपनी राज्य की टीम झारखंड की कप्तानी कर सकते हैं। धोनी पांच फरवरी को बंगाल के खिलाफ मैच में झारखंड टीम की कप्तानी कर सकते हैं। ये भी पढ़ें: इंग्लैंड के खिलाफ दूसरे टी20 मैच में खेल सकते हैं अमित मिश्रा

धोनी के साथ ही झारखंड टीम में वरुण एरॉन भी लंबे समय के बाद वापसी कर रहे हैं। वरुण चोट के कारण टीम से बाहर चल रहे थे और अब वह फिट हैं इसलिए उन्हें जगह दी जा रही है। कप्तानी से हटने के बाद धोनी ने इंग्लैंड के खिलाफ वनडे सीरीज में अच्छा प्रदर्शन किया था। कटक में खेले गए दूसरे वनडे में धोनी ने युवराज सिंह के साथ मिलकर 256 रनों की साझेदारी बनाई थी। जिसमें युवी ने 150 और धोनी ने 134 रनों का योगदान दिया था। वहीं कानपुर में खेले गए पहले टी20 मैच में टीम भले ही हार गई हो लेकिन धोनी ने अपनी तरफ से शत- प्रतिशत योगदान दिया था। धोनी ने टीम इंडिया में आने के बाद से इस तरह के टूर्नामेंट खेलना काफी कम कर दिया था। इसकी वजह था उनका व्यस्त कार्यक्रम लेकिन अब कप्तानी से हटने के बाद उनपर से दबाव भी कम हो गया है। इसलिए उम्मीद है कि वह अपनी टीम का नेतृत्व जरूर करेंगे। ये भी पढ़ें: गौतम गंभीर ने की राहुल द्रविड़ की तारीफ

धोनी ने राष्ट्रीय टीम में आने के बाद भी अपनी राज्य की टीम का साथ दिया है। रणजी ट्रॉफी में भी धोनी ने झारखंड टीम को स्वयं प्रशिक्षित किया था हालांकि वह आधिकारिक तौर पर टीम के प्रशिक्षक नहीं थे। लेकिन वह नेट अभ्यास में टीम के साथ रहते थे और युवा खिलाड़ियों का मार्गदर्शन करते थे। धोनी झारखंड बनाम गुजरात सेमीफाइनल मैच देखने भी आए थे।