चौथे वनडे में कोहली-धोनी कुछ खास नहीं कर सके © Getty Images
चौथे वनडे में कोहली-धोनी कुछ खास नहीं कर सके © Getty Images

भारतीय टीम चौथा वनडे हार गई है और भारतीय टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी पर सवालों की बौछार शुरू हो चुकी है। धोनी ने सवालों का जवाब देते हुए टीम का बचाव किया और कहा ‘टीम को इस हार से सीख मिलेगी, ये हार बिल्कुल वैसी ही थी जैसी हमें दूसरे मैच में दिल्ली में मिली थी। टीम को थोड़ा और समय दीजिए, टीम अच्छा करेगी। अगर हमारे पास विकेट होते तो मैच का नतीजा कुछ और होता, ऐसे ही हालातों से आपको अनुभव मिलता है और आप सीखते हैं। अभी कुछ भी कहना बहुत जल्दबाजी होगी हमें खिलाड़ियों को और समय देने की जरूरत है।’ ये भी पढ़ें: भारतीय टीम के पांच ‘विलेन’ जिनकी वजह से हार गई टीम इंडिया

आंकड़े बताते हैं कि भारतीय टीम हाल-फिलहाल विराट कोहली पर ज्यादा ही निर्भर रहने लगी है, जब भारतीय कप्तान से इस संबंध में सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा ‘यह सही नहीं है, अगर आप पिछले कुछ महीने देखें तो हमने ज्यादा वनडे मैच नहीं खेले हैं, इस बीच हमारे पास जिम्बाब्वे के खिलाफ भी सीरीज थी, तो आप ऐसे नहीं कह सकते, मैंने भी लगभग हर क्रम में बल्लेबाजी की है और ऊपरी क्रम अच्छा खेल रहा है, तो यह कहना गलत है कि टीम विराट कोहली पर अतिनिर्भर है।’ हमें युवाओं को और समय देना चाहिए, ऐसी पिचों पर नीचे बल्लेबाजी करना बेहद ही मुश्किल होता है, खिलाड़ियों पर स्ट्राइक रोटेट करने का दबाव होता है और साथ ही रन रेट को भी बरकरार रखना होता है।  ये भी पढ़ें: भले ही चौथा वनडे टीम इंडिया हार गई, लेकिन उभरकर आईं ये 3 अच्छी बातें

आपको बता दें भारत और न्यूजीलैंड के बीच पांच मैचों की सीरीज 2-2 की बराबरी पर पहुंच चुकी है और सीरीज का पांचवां और आखिरी मैच शनिवार को विशाखापट्नम में खेला जाएगा। भारत को कोहली पर अतिनिर्भर रहने की आदत से बाहर निकलना होगा और टीम के हर खिलाड़ी को अपनी जिम्मेदारी समझनी होगी। तब जाकर टीम शनिवार को फाइनल मैच जीत सकेगी।