MS Dhoni: We have a stable XI; Change isn’t that important if not necessary
महेंद्र सिंह धोनी (AFP)

राजस्थान रॉयल्स को 8 रनों से हराकर महेंद्र सिंह धोनी की अगुवाई में चेन्नई सुपर किंग्स ने आईपीएल में लगातार तीसरी जीत दर्ज की। सीएसके 12वें सीजन में अब तक अजेय बनी हुई और इसका एक कारण है टीम कॉम्बिनेशन। कैप्टन कूल धोनी लगभग एक ही प्लेइंग इलेवन के साथ खेल रहे हैं। उनका मानना है जब तक बेहद जरूरत ना हो प्लेइंग इलेवन में बदलाव करना महत्वपूर्ण नहीं है।

ये भी पढ़ें: स्लो ओवर रेट के लिए अजिंक्य रहाणे पर जुर्माना लगा

मैच के बाद धोनी ने कहा, “हमारी प्लेइंग इलेवन काफी स्थाई है और इस टीम में (राजस्थान) काफी बाएं हाथ के बल्लेबाज थे, इसलिए हमने मिचेल सैंटनर को (हरभजन सिंह की जगह) मौका दिया। ये जरूरी नहीं कि बदलाव किया ही जाय, जब तक कि जरूरत ना हो। जैसे जैसे टूर्नामेंट आगे बढ़ेगा बाकी खिलाड़ियों को भी मौका मिलेगा। टूर्नामेंट में आगे बढ़ते हुए हम अपनी योजनाओं को और बेहतर तरीके से लागू करेंगे।”

ये भी पढ़ें:  धोनी की अर्धशतकीय पारी, ब्रावो-ताहिर की शानदार गेंदबाजी रही जीत का फैक्टर

राजस्थान के खिलाफ मैच में 75 रनों की पारी खेलकर प्लेयर ऑफ द मैच रहे धोनी जब क्रीज पर आए थे तो टीम ने अपनी तीन शीर्ष क्रम बल्लेबाज खो दिए थे। मुश्किल समय में बल्लेबाज करते समय उनके दिमाग में क्या चल रहा था, इस सवाल के जवाब में धोनी ने कहा, “हम केवल साझेदारी बनाना चाहते थे, उसकी जरूरत थी। हमें पता था कि मैदान पर ओस है। हमें जानकारी थी कि आगे चलकर बल्लेबाजी आसान हो जाएगी। हमारी बल्लेबाजी काफी गहरी थी, सैंटनर के रहते हमें नंबर 9 तक बल्लेबाजी करते। हम आखिरी के ओवरों में रफ्तार बढ़ा सकते थे और उस समय हमें साझेदारी बनाने की जरूरत थी।”

चेपॉक की मुश्किल पिच पर टॉस हारने के बाद राजस्थान के खिलाफ योजना पर धोनी ने कहा, “मैंने सोचा था कि हम देखेंगे कि तेज गेंदबाज कैसी गेंदबाजी करते हैं ताकि हम स्पिनर्स को खेल में ला सकें। जडेडा और सैंटनर के लिए गेंद पर पकड़ बनाना मुश्किल हो रहा है। नतीजा जो भी हो, ये जरूरी है कि बाउंड्री पर रोक लगाए और तेज गेंदबाजों के लिए ये करना मुश्किल हो रहा है। लगातार एक ही एरिया में हिट करना जरूरी है। धीमी गेंद अच्छा विकल्प थी या नहीं इस पर चर्चा की जा सकती है।”