Pakistan cricket fraternity salutes MS Dhoni for an impactful career
ms dhoni @afp (file image)

Dhoni Retires:  भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने 15 अगस्त को इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कह दिया था। धोनी के क्रिकेट करियर को लेकर देश के साथ साथ विदेश में भी जमकर सराहना हो रही है। पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान भी धोनी की तारीफ के कसीदे पढ़ रहा है। पाकिस्तान के क्रिकेट समुदाय ने एक सुर में माही की तारीफ करते हुए उन्हें भारत के महानतम कप्तानों में से एक और खेल को अपने तरीके से प्रभावित करने वाला खिलाड़ी बताया।

CPL 2020: आज से होगी इस लीग की शुरुआत, जानें किस चैनल पर होगा लाइव टेलीकास्ट

धोनी की कप्तानी में भारत ने टी20 विश्व कप, 50 ओवर का विश्व कप और चैंपियंस ट्रॉफी का खिताब जीता जबकि टेस्ट क्रिकेट में दुनिया की नंबर एक टीम भी बना। इंजमाम उल हक, बासित अली, वसीम अकरम, वकार यूनिस, मुदस्सर नजर, शाहिद आफरीदी और कई अन्य ने धोनी की सराहना की।

इंजमाम ने भारत के महानतम क्रिकेट कप्तानों में से एक बताया 

पाकिस्तान के लिए सबसे अधिक मैच खेलने वाले क्रिकेटर इंजमाम ने कहा, ‘मेरी नजर में वह भारत के महानतम क्रिकेट कप्तानों में से एक है। असली मैच विजेता जिसके खिलाफ खेलने का मैंने काफी लुत्फ उठाया।’

राशिद लतीफ का मनना है कि भारतीय क्रिकेट में धोनी की विरासत को हमेशा याद रखा जाएगा लेकिन उसके संन्यास का मतलब है कि विराट कोहली अब अपनी विरासत तैयार कर सकता है।

‘माही परफेक्ट फिनिशर थे’

राशिद ने कहा, ‘शानदार खिलाड़ी और कप्तान। उसमें खेल को सटीकता के साथ पढ़ने की क्षमता थी और प्रत्येक स्थिति के अनुसार अपने खिलाड़ियों का इस्तेमाल करता था और वह परफेक्ट फिनिशर था।’

पूर्व टेस्ट सलामी बल्लेबाज मुदस्सर ने कहा कि इसमें कोई संदेह नहीं कि धोनी खेल के सर्वश्रेष्ठ फिनिशर में से एक हैं। उन्होंने कहा, ‘मैंने पहली बार उसे तब देखा जब मैं कीनिया को कोचिंग दे रहा था। नैरोबी में त्रिकोणीय टूर्नामेंट था और धोनी ने लगातार दो शतक लगाए। लेकिन तब मुझे नहीं पता था कि वह भारतीय क्रिकेट और विश्व क्रिकेट पर इतना बड़ा असर छोड़ेगा।’

‘कप्तान और विकेटकीपर के रूप में रन बनाने की धोनी की क्षमता शानदार थी’

शीर्ष बल्लेबाज मोहम्मद यूसुफ ने कहा कि कप्तान और विकेटकीपर के रूप में रन बनाने की धोनी की क्षमता शानदार थी।

उन्होंने कहा, ‘उसने अलग अलग स्थानों पर बल्लेबाजी की और हमेशा नतीजा दिया। मुझे 2011 विश्व कप के फाइनल में उसकी पारी याद है। यह मास्टर स्ट्रोक थी जिस तरह वह बल्लेबाजी क्रम में खुद को ऊपर लाए और विजयी छक्का जड़ा।’

CSA के अध्यक्ष क्रिस नेनजानी ने तत्काल प्रभाव से दिया इस्तीफा

बासित अली ने कहा कि उन्होंने अपने करियर में कभी धोनी से अधिक विविधता वाला खिलाड़ी नहीं देखा। उन्होंने कहा, ‘भारत और चेन्नई सुपरकिंग्स के लिए उसका रिकॉर्ड देखिए, यह शानदार है। जब वह 2016 और 2017 में पुणे के लिए खेला तो उनकी टीम ने आईपीएल फाइनल में जगह बनाई। किसी भी टीम पर उसका प्रभाव इस तरह का था।’

 ‘धोनी ने युवा खिड़ियों को निखारा और प्रोत्साहित किया’

पूर्व टेस्ट सलामी बल्लेबाज और मुख्य चयनकर्ता मोहसिन खान ने कहा कि धोनी का सबसे बड़ा योगदान यह रहा कि उन्होंने ऐसी टीमों की कप्तानी की जिसमें शीर्ष सीनियर खिलाड़ी मौजूद थे और साथ ही युवा खिलाड़ियों को निखारा और प्रोत्साहित किया।

पूर्व कप्तान और विकेटकीपर मोइन खान ने कहा, ‘निजी तौर पर मुझे वह काफी रोमांचक और स्तरीय खिलाड़ी लगा जो प्रभाव छोड़ने वाले खिलाड़ी की परिभाषा में फिट बैठता है।’ पूर्व ऑलराउंडर शाहिद आफरीदी ने भी ट्वीट करके धोनी की तारीफ की और उन्हें भविष्य के लिए शुभकामनाएं दी। आफरीदी ने लिखा, ‘खेल के महान खिलाड़ियों में से एक और महानतम कप्तानों में से एक।’