मोहम्मद सामी © Getty Images
मोहम्मद सामी © Getty Images

पाकिस्तान क्रिकेट में एक बार फिर फिक्सिंग का जिन्न जिंदा होता नजर आ रहा है। खबरें हैं कि पाकिस्तान सुपर लीग में स्पॉट फिक्सिंग मामले में तेज गेंदबाजमोहम्मद सामी  से पूछताछ हुई है। लाहौर में शुक्रवार सुबह सामी को समन भेजा गया और पीसीबी हेडक्वार्टर में उनसे एंटी करप्शन ट्राइब्यूनल ने पूछताछ की। पीएसएल में पिछले साल सामी इस्लामाबाद यूनाइटेड के लिए खेले थे जिसके ओपनर शरजील खान और खालिद लतीफ पहले ही फिक्सिंग के दोषी करार हो चुके हैं। पीसीबी ने इन दोनों पर पांच सालों का बैन लगाया है।

मोहम्मद सामी बांग्लादेश प्रीमियर लीग में खेल रहे थे और उन्हें अचानक पूछताछ के लिए बुलाया गया। कानून मामलों में पीसीबी के जनरल मैनेजर सलमान नसीर ने रिपोर्टर्स को बताया कि पीसीबी की एंटी करप्शन यूनिट ने सामी को पूछताछ के लिए बुलाया था और उनसे दो घंटे तक पूछताछ की। सामी से जो भी सवाल किए उनका उन्होंने बखूबी जवाब दिया। पीसीबी ने सामी को कोई कारण बताओ नोटिस नहीं दिया था। बोर्ड ने सामी को दुबई में होने वाली टी10 लीग में खेलने की मंजूरी भी दी है।

बीपीएल 2017-18: क्रिस गेल ने 45 गेंद में शतक लगाकर टीम को दिलाई जीत, लगाए 14 छक्के
बीपीएल 2017-18: क्रिस गेल ने 45 गेंद में शतक लगाकर टीम को दिलाई जीत, लगाए 14 छक्के

तेज गेंदबाज मोहम्मद इरफान और ऑलराउंडर मोहम्मद नवाज भी स्पॉट फिक्सिंग मामले में दोषी साबित हो चुके हैं। इरफान पर 12 महीनों का बैन लगा था वहीं नवाज पर 2 महीनों का बैन लगाया गया था। आपको बता दें पाकिस्तान के कई टैलेंटेड खिलाड़ी स्पॉट फिक्सिंग में फंस चुके हैं। सलमान बट्ट, मोहम्मद आसिफ उनमें बड़े नाम हैं। तेज गेंदबाज मोहम्मद आमिर ने भी मैच फिक्सिंग की सजा झेली है हालांकि वो अब वापसी कर चुके हैं और वो एक बार फिर अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं।