सेजू सैमसन  © BCCI
सेजू सैमसन © BCCI

आईपीएल 10 के मैच नंबर 9 में दिल्ली डेयरडेविल्स के हाथों राइजिंग पुणे सुपरजायंट(आरपीएस) को करारी हार का सामना करना पड़ा। आरपीएस की दिल्ली के खिलाफ ये दूसरी हार है। इस बार मोर्चा दिल्ली के संजू सैमसन ने संभाला और आनन- फानन में शतक बनाते हुए दिल्ली को बड़े स्कोर की ओर ले गए और तभी से आरपीएस की हार तय हो गई और अंततः आरपीएस को 97 रनों से हार झेलनी पड़ी। सैमसन ने आईपीएल 10 का पहला शतक जड़ा साथ ही ये उनका टी20 क्रिकेट में पहला शतक है। इसके पहले उनका टी20 में सर्वोच्च स्कोर 87 था जो उन्होंने सैयद मुश्ताक अली टी20 में बनाया था। संजू का ये 24वां आईपीएल मैच था। सैमसन का कहना है कि अब तक की यह उनकी सबसे अच्छी पारी है और साथ ही उन्हें मौका देने के लिए उन्होंने दिल्ली टीम के प्रबंधन को भी श्रेय दिया। उन्होंने कोच राहुल द्रविड़ को उनपर भरोसा दिखाने और जो खिलाड़ी वो आज हैं उसे बनाने के लिए शुक्रिया कहा।

संजू ने आईपीएलटी20. कॉम को दिए इंटरव्यू(साक्षात्कार) में कहा, “मुझे लगता है कि ये मेरी जिंदगी की सबसे बेहतरीन पारी है, और मैं बहुत खुश हूं कि मैंने इसे आईपीएल में मुकम्मल किया। मैं बहुत खुश हूं कि मैंने इसे टूर्नामेंट की शुरुआत में बनाया। अभी लंबा रास्ता तय करना है। उम्मीद करता हूं कि मैं टीम की सफलता में भागीदार बनता रहूंगा।” इसके बाद उन्होंने दिल्ली टीम के मैंनेजमेट को भी अपने शतक का श्रेय दिया जिन्होंने उनपर लगातार भरोसा बनाए रखा। सैमसन ने कहा, ” मुझपर भरोसा जताने का श्रेय जरूर दिल्ली डेयरडेविल्स मैंनेजमेंट(प्रबंधन) के पास जाना चाहिए। राहुल सर, रुबिन भरूचा और पैडी अपटन व अन्य सभी ने अच्छा साथ दिया। साल 2016 मेरे लिए बुरा गुजरा था। और इन्होंने मेरा अच्छी तरह से सहयोग किया, मैं इसे उन्हें समर्पित करता हूं।”

मैच के दौरान भारतीय किवदंती(लीजेंड) सुनील गावस्कर ने सैमसन की पारी की महेला जयवर्धने के खेलने के अंदाज से तुलना कर दी। सैमसन ने इस कॉम्पलीमेंट(पूरक) को एक सम्मान के तौर पर लिया और कहा, “यही आईपीएल की संपूर्ण खूबसूरती है। सभी लीजेंड मेरी दूसरे लीजेंड से तुलना कर रहे हैं, मैं आईपीएल का हिस्सा बनकर बहुत सौभाग्यशाली महसूस कर रहा हूं।”राइजिंग पुणे सुपरजायंट बनाम दिल्ली डेयरडेविल्स, मैच का फुल स्कोरकार्ड जानने के लिए क्लिक करें… 

अंततः सैमसन ने बताया कि किस तरह से राहुल द्रविड़ के साथ खेलने और काम करने से उनके आईपीएल व अन्य प्रदर्शन पर असर पड़ा, “मुझे लगता है कि मैं 17-18 साल का रहा हूंगा जब मैं राजस्थान रॉयल्स के लिए खेला और तभी से मैं राहुल द्रविड़ के साथ काम कर रहा हूं। मैं उनके साथ होकर बहुत सौभाग्यशाली महसूस करता हूं। मुझे लगता है कि साधारणतया लोगों को ये मौके नहीं मिलते और मुझे बड़ी खुशी होती है। लेकिन मुझे लगता है कि अभी लंबा रास्ता तय करना बाकी है।”