पृथ्वी शॉ © Getty Images
पृथ्वी शॉ © Getty Images

मुंबई के बल्लेबाज पृथ्वी शॉ ने दिलीप ट्रॉफी के फाइनल मुकाबले में शतक लगाकर इतिहास रच दिया। शॉ ने सिर्फ 17 साल की उम्र में दिलीप ट्रॉफी के फाइनल में शतक लगाया और वो ऐसा करने वाले भारत के सबसे युवा खिलाड़ी बन गए। पृथ्वी शॉ ने सिर्फ 17 साल 320 दिन की उम्र में ये कारनामा किया। आपको बता दें पृथ्वी शॉ रणजी ट्रॉफी फाइनल में शतक लगाने वाले खिलाड़ी भी हैं। उन्होंने महज 17 साल 62 दिन की उम्र में मुंबई के लिए रणजी फाइनल में शतक जड़ा था।

खिलाड़ी टीम विरोधी तारीख उम्र
सचिन तेंदुलकर वेस्ट जोन ईस्ट जोन 11 Jan, 1991 17 साल 262 दिन
सचिन तेंदुलकर वेस्ट जोन साउथ जोन 18 Jan, 1991 17 साल 269 दिन
पृथ्वी शॉ इंडिया रेड इंडिया ब्लू 25 Sep, 2017 17 साल 320 दिन
श्रीतम दास ईस्ट जोन सेंट्रल जोन 20 Oct, 1986 18 साल 71 दिन
सौरव गांगुली ईस्ट जोन वेस्ट जोन 11 Jan, 1991 18 साल 187 दिन

हालांकि दिलीप ट्रॉफी में सबसे कम उम्र में शतक लगाने का रिकॉर्ड सचिन तेंदुलकर के नाम है। सचिन ने 11 जनवरी, 1991 को दिलीप ट्रॉफी के पहले ही मुकाबले में शतक लगा दिया था। सचिन ने जब दिलीप ट्रॉफी में शतक लगाया था तब वो महज 17 साल, 262 दिन के थे। दिलचस्प ये था कि उसी मैच में सौरव गांगुली ने भी शतक लगाया था और तब उनकी उम्र 18 साल थी। दिलीप ट्रॉफी में ही नहीं सचिन ने रणजी और ईरानी ट्रॉफी के डेब्यू मैच में भी शतक लगाया था। ये भी पढ़ें: भारत के खिलाफ टी20 सीरीज में पैट कमिंस की जगह लेंगे एंड्रूयू टाय

सचिन के ही नक्शेकदम पर चलते हुए मुंबई के शॉ भी रणजी ट्रॉफी और दिलीप ट्रॉफी में अपने डेब्यू मैच में शतक लगा चुके हैं। शॉ ने इसी साल के शुरुआत में रणजी ट्रॉफी में तमिलनाडु के खिलाफ शतक लगाया था। शॉ दिलीप ट्रॉफी में इंडिया रेड का हिस्सा नहीं थे और उन्हें अंबाती रायडू के चोटिल होने के बाद उनके विकल्प के तौर पर बुलाया गया था लेकिन शॉ ने फाइनल मुकाबले में 154 रनों की पारी खेलकर इतिहास रच दिया। शॉ तब सुर्खियों में आए थे जब हैरिस शील्ड स्कूल टूर्नामेंट में 14 साल की उम्र में 330 गेंदों में 546 रनों की पारी खेली थी।