प्रियांक पंचाल अपने शानदार खेल की बदौलत भारतीय टीम के लिए दस्तक दे रहे हैं Photo Credit- dnaindia.com
प्रियांक पंचाल अपने शानदार खेल की बदौलत भारतीय टीम के लिए दस्तक दे रहे हैं Photo Credit- dnaindia.com

लोकेश राहुल, करुण नायर जैसे युवा बल्लेबाजों के शानदार प्रदर्शन के बाद घरेलू क्रिकेट में अच्छा खेल दिखा रहे युवाओं का उत्साह बढ़ा है। इन युवा खिलाड़ियों में प्रियांक पंचाल, ऋृषभ पंत, दीपक हुडा जैसे बल्लेबाज रणजी ट्रॉफी में अपने बेहतरीन प्रदर्शन से भारतीय टीम के दरवाजे पर दस्तक दे रहे हैं। खासकर गुजरात के प्रियांक पंचाल कमाल की बल्लेबाजी कर रहे हैं। प्रियांक इस रणजी सीजन में 1,000 रन बनाने वाले पहले बल्लेबाज बन गए हैं। वह इस सीजन में रन बनाने के मामले में टॉप की पोजीशन पर अपना कब्जा जमाए हुए हैं।

प्रियांक अब तक इस साल 8 मैचों में 101.81 के जादुई औसत से 1120 रन बना चुके हैं। इस दौरान उन्होंने 4 शतक और 4 अर्धशतक जमाए हैं। प्रियांक ने एक बड़ी पारी खेलने वाले बल्लेबाज के रूप में अपनी छाप छोड़ी है। इस रणजी सीजन में जमाए गए 4 शतकों में पंजाब के खिलाफ लगाया गया तिहरा शतक और मुंबई के खिलाफ दोहरा शतक शामिल हैं। दाएं हाथ के बल्लेबाज प्रियांक ने इस साल रणजी सीजन में एक और कीर्तिमान अपने नाम किया है। ओडिसा के खिलाफ क्वार्टर फाइनल मुकाबले में 81 रनों की पारी के दौरान उन्होंने रणजी ट्रॉफी के एक सीजन में रन बनाने के अजिंक्य रहाणे के रिकॉर्ड को पीछे छोड़ दिया। [Also Read: पंकज शॉ ने खेली रिकॉर्डतोड़ पारी बना डाले 413 रन]

रहाणे ने रणजी ट्रॉफी 2008-09 में 1089 रन बनाए थे। रणजी ट्रॉफी के एक सत्र में सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड वीवीएस लक्ष्मण के नाम दर्ज है। लक्ष्मण ने 1999-00 में एक सीजन में 1415 रन बनाए थे। पिछले सीजन में 1321 रन बनाने वाले श्रेयस अय्यर इस लिस्ट में दूसरे नंबर पर हैं। प्रियांक के पास इस रिकॉर्ड को तोड़ने का बेहतरीन मौका है। क्योंकि गुजरात का सेमीफाइनल खेलना लगभग तय है।